‘फेसबुक-इंस्‍टाग्राम पर इस नाम की लड़की के झांसे में न आएं’, सेना ने तस्‍वीर जारी कर सैनिकों को चेताया

संभावना है कि पाकिस्‍तानी एजेंसियां इनका इस्‍तेमाल सैनिकों के सोशल मीडिया अकाउंट्स में सेंध लगाने के लिए कर रही हों.

नई दिल्‍ली: सेना ने अपने सैनिकों को एक इंस्‍टाग्राम और फेसबुक प्रोफाइल के प्रति सतर्क किया है. सेना का कहना है कि यह पाकिस्‍तानी जासूस हो सकती है जो खुफिया सूचना लेना चाहती हो. सेना ने कहा कि इंस्‍टाग्राम पर “Oyesoumya” और फेसबुक पर “Gujjar Soumya” नाम की प्रोफाइल उसकी नजर में आई है.

अपनी एडवायजरी में सेना ने कहा है कि ये प्रोफाइल्‍स ‘सैन्‍य अधिकारियों और विशेष बलों के सैनिकों’ को फंसाकर उनसे वर्गीकृत जानकारी लेने वाले जासूस की हो सकती हैं. सेना के मुताबिक, संभावना है कि पाकिस्‍तानी एजेंसियां इन प्रोफाइल्‍स का इस्‍तेमाल सैनिकों के सोशल मीडिया अकाउंट्स में सेंध लगाने के लिए कर रही हों.

खुद को शहीद कैप्‍टन की बहन बताती है यह प्रोफाइल

एडवाजयरी में कहा गया है, “वह (गुज्‍जर सौम्‍या) स्‍वर्गीय कैप्‍टन पवन कुमार की बहन होने का दावा करती है. उसका दावा है कि वह IIT बॉम्‍बे में रिसर्च स्‍कॉलर है और उसने IIT JEE 2016 और NTSE 2014 क्लियर किया है.” सेना ने कहा कि “इस प्रोफाइल (सौम्‍या) से किसी तरह का संपर्क करते समय सावधान रहें क्‍योंकि संभावना है कि इसका इस्‍तेमाल दुश्‍मन की एजेंसियां वर्गीकृत किस्‍म की जानकारियां लेने के लिए सैनिकों के सोशल मीडिया अकाउंट्स तक पहुंच बनाने के लिए कर रही हों.”

सौम्‍या, ‘फेसबुक-इंस्‍टाग्राम पर इस नाम की लड़की के झांसे में न आएं’, सेना ने तस्‍वीर जारी कर सैनिकों को चेताया
सेना द्वारा जारी की गई प्रोफाइल की डिस्‍प्‍ले पिक्‍चर.

कई भारतीय सैनिकों के ‘हनीट्रैप’ में फंसने के बाद सेना ने बड़े पैमाने पर इसके खिलाफ अभियान चलाया है. हाल ही में, मध्‍य प्रदेश से एक आर्मी क्‍लर्क को गिरफ्तार किया गया था. आरोप है कि हनीट्रैप में फंसकर उसने पाकिस्‍तानी एजेंसियों को सोशल मीडिया पर खुफिया जानकारी दी.

ये भी पढ़ें

भारतीय सेना ने की लोगों से सतर्क रहने की अपील, फेक वीडियो हो रहा वायरल

मिलिट्री के बेजा इस्‍तेमाल का आरोप, कर्नल और सैनिकों के खिलाफ केस दर्ज