घुसपैठ कर जम्मू-कश्मीर को दहलाना चाहते थे PAK आतंकी, भारतीय सेना ने ध्वस्त किए नापाक मंसूबे

पाकिस्तानी सेना अपनी चौकियों से भारी मात्रा में गोलीबारी करके इस घुसपैठ में मदद कर रही थी.

नई दिल्ली: भारतीय सेना ने मंगलवार रात को जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकियों की एक बड़ी घुसपैठ को नाकाम कर दिया. सेना के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना अपनी चौकियों से भारी मात्रा में गोलीबारी करके इस घुसपैठ में मदद कर रही थी.

सूत्रों का कहना है कि आतंकियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ कराकर पाकिस्तानी सेना जम्मू-कश्मीर में हिंसा फैलाना चाहती थी. पाकिस्तान की ओर इस तरह के संभावित खतरों का सामना करने के लिए भारतीय सेना को अलर्ट पर रखा गया है.

‘भारी खामियाजा भुगतेगा भारत’
मालूम हो कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के भारत के कदम को ‘रणनीतिक महाभूल’ करार दिया है. उन्होंने कहा कि इस कदम का भारत को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

खान ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के मुजफ्फराबाद में विधानसभा के एक विशेष सत्र को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की. पाकिस्तान अपने इस स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखाने का संदेश देने के लिए कश्मीर एकजुटता दिवस मना रहा है. इसी के तहत खान पीओके पहुंचे हैं.


खान ने कहा, “मेरा मानना है कि यह मोदी द्वारा की गई एक बहुत बड़ी रणनीतिक गलती है. मोदी और उनकी भाजपा सरकार को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. मैं इसे मोदी का एक बड़ा गलत अनुमान मानता हूं. उन्होंने अपना अंतिम कार्ड खेला है.”

युद्ध की बातें कर रहा पाकिस्तान
जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को भारत द्वारा समाप्त करने के बाद पाकिस्तान में बेचैनी चरम पर पहुंचती दिख रही है. घबराहट की हालत में तमाम नेता भारत की तरफ से पैदा किसी अज्ञात भय से पीड़ित जैसे दिख रहे हैं और युद्ध की बातें कर रहे हैं. इसी सिलसिले की ताजा कड़ी में पाकिस्तान के सैन्य प्रमुख का बयान आया है कि पाकिस्तान की सेना सदैव कश्मीर के साथ खड़ी रहेगी और ‘अपना राष्ट्रीय कर्तव्य निभाने से पीछे नहीं हटेगी.’

पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर अपने संदेश में देश के सैन्य प्रमुख जनरल कमर बाजवा ने कहा कि देश की सेना कश्मीर के साथ खड़ी है और इस मामले में राष्ट्रीय कर्तव्य के निर्वहन के लिए पूरी तरह से तैयार है.

ये भी पढ़ें-

अनुच्छेद 370 हटने से जम्मू-कश्मीर को होगा फायदा , 73वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर बोले राष्ट्रपति कोविंद

पहलू खान मॉब लिंचिंग मामले में सभी 6 आरोपी बरी, अलवर जिला कोर्ट ने सुनाया फैसला

दिल्ली एयरपोर्ट पर हिरासत में लिए गए IAS से नेता बने शाह फैजल, वापस भेजे गए कश्मीर