50 किलोमीटर दूर बैठे दुश्मन को नेस्त-ओ-नाबूद कर देने वाली होवित्जर तोप का गोला खरीदेगी सेना

पिछले दिनों पुलवामा में सीआरपीएफ दस्ते पर हुए आतंकी हमले के बाद तीनों सेनाओं को आपातकालीन शक्तियां दी गई थीं. इन शक्तियों के तहत सेना अपनी जरूरत के हिसाब से 300 करोड़ तक के हथियार खरीद सकती थीं.

नई दिल्ली: भारतीय सेना लंबी दूरी तक मार करने वाली होवित्जर तोपों का गोला-बारूद अमेरिका से खरीदेगी. अमेरिका में बनी इस होवित्जर तोप से 50 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक के लक्ष्य को भेदा जा सकता है. इस तोप के बारे में खास बात ये है कि इससे घनी आबादी वाले इलाके में भी सटीक लक्ष्य भेदकर दुश्मन को मार सकती है.

सूत्रों के मुताबिक सेना आपातकालीन प्रावधानों के तहत ये गोला बारूद खरीदेगी. मालूम हो कि पिछले दिनों पुलवामा में सीआरपीएफ दस्ते पर हुए आतंकी हमले के बाद तीनों सेनाओं को आपातकालीन शक्तियां दी गई थीं. इन शक्तियों के तहत सेना अपनी जरूरत के हिसाब से 300 करोड़ तक के हथियार खरीद सकती थीं. इसी प्रक्रिया के तहत थल सेना होवित्जर तोपों के गोला-बारूद की खरीद कर रही है.

आए-दिन पाकिस्तान की ओर से होने वाली क्रॉस बॉर्डर फायरिंग का माकूल जवाब देने के लिए भारतीय सेना अमेरिका से एक्सकैलिबर आर्टिलरी एम्युनेशन खरीदने की तैयारी में है. हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हथियारों की खरीद की जानकारी देते हुए कहा था कि जीपीएस सिस्टम की मदद से ये मिसाइल 50 किलोमीटर दूर तक सटीक हमला कर सकती है.

मालूम हो कि अफगानिस्तान और इराक में इस्तेमाल की जा चुकी ये होवित्जर तोप अमेरिका में बनी हैं. ये काफी हल्की तोप हैं जो इसे दुर्गम इलाकों में ले जाने की काबिलियत देती है. करीब तीन दशकों बाद भारतीय सेना में शामिल होने वाली ये तोपें बॉर्डर पर भारत की सुरक्षा में मजबूती प्रदान करेंगी.

ये भी पढ़ें: डूबती एयर इंडिया को बचाने का नया प्लान, 100% हिस्सेदारी बेचने को तैयार सरकार