डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

डोकला बेस सिक्किम के निकट विवादित डोकलाम पठार के किनारे पर मौजूद है.
New Road developed in Doklam, डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

भारतीय सेना को बेहद अहम डोकला बेस तक पहुंचने में अब 40 मिनट से ज्यादा समय नहीं लगेगा. सरकार ने यहां पर तारकोल से बनी हर मौसम में काम करने वाली सड़क तैयार कर दी है. इस पर भारी से भारी वजन की चीजों को आसानी से लाया जा सकता है.

डोकला बेस सिक्किम के निकट विवादित डोकलाम पठार के किनारे पर मौजूद है. चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी साल 2017 में भारतीय सेना से डोकलाम में उलछ गई थी. उस समय भारतीय सेना को बेस तक पहुंचने के लिए खच्चरों के लिए बने रास्ते पर सात घंटे तक का वक्त लग जाता था.

New Road developed in Doklam, डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

‘युद्धस्तर पर पक्का किया गया’
बॉर्डर रोड्स ऑर्गेनाइजेशन (BRO) के मुताबिक, नई तैयार हुई भीम बेस-डोकला रोड को ‘युद्धस्तर पर पक्का किया गया,’ जिससे दुश्मन की ओर से हमला किए जाने की स्थिति के लिए देश की रक्षा तैयारी’ हो सके.

बीआरओ ने कहा है कि उसने डोकला बेस तक जाने वाली सड़क का निर्माण कार्य खत्‍म कर लिया है. यह सड़क सिक्किम के करीब डोकलाम घाटी में प्रवेश करती है. यह सड़क हर मौसम के लिए मुफीद है. इस सड़क के जरिये कितने भी वजन ढोया जा सकता है.

New Road developed in Doklam, डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

‘…ऐसी ही 61 सड़कों का निर्माण पूरा’
बीआरओ ने अब तक भारत-चीन बॉर्डर पर 3,346 किलोमीटर लंबी करीब 61 ऐसी सड़कों का निर्माण पूरा कर लिया है. ये रणनीतिक तौर पर काफी महत्‍वपूर्ण हैं. इनमें 2,400 किलोमीटर तक की सड़क हर मौसम के अनुकूल हैं. बीआरओ 2019 में 11 भारत-चीन रणनीतिक सड़कों का निर्माण कार्य पूरा कर लेगा.

New Road developed in Doklam, डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

गौरतलब है कि भारत डोकलाम पठार को अविवादित रूप से भूटानी क्षेत्र मानता है. वहीं, चीन इसे अपनी चुम्बी घाटी का हिस्सा बताता है. चुम्बी घाटी खंजर की शक्ल में बना जमीन का वह टुकड़ा है, जो पश्चिम में सिक्किम तथा पूर्व में भूटान के बीच स्थित है. विवादित डोकलाम क्षेत्र लगभग 89 वर्ग किलोमीटर का टुकड़ा है, जिसकी चौड़ाई 10 किलोमीटर भी नहीं है.

ये भी पढ़ें-

BJP ज्वाइन करने की चर्चा के बीच कांग्रेस विधायक अदिति सिंह को मिली Y+ कैटिगरी की सुरक्षा

BJP में शामिल हुए नारायण राणे के बेटे नितेश राणे, कंकावली से मिल सकता है टिकट

पी चिदंबरम को फिर लगा झटका, दिल्ली हाई कोर्ट ने 17 अक्टूबर तक बढ़ाई न्यायिक हिरासत

Related Posts