शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल
शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल

गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल

भारतीय एजेंसियों के पास पूरे रूट के 3D विजुअल्‍स थे. इस मैप को फिर एक मोबाइल एप में फीड किया गया जिसे सिर्फ सिक्‍योरिटी टीम एक्‍सेस कर सकती थी.
शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल

चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग भारत में हैं. उनकी सुरक्षा के इंतजाम अभूतपूर्व हैं. एयरपोर्ट से होटल और होटल से ममल्‍लापुरम तक जिनपिंग को जहां-जहां जाना था, उसके चप्‍पे-चप्‍पे की तस्‍वीर पुलिस के पास थी. शी जिनपिंग की सुरक्षा की इतनी पुख्‍ता तैयारी संभव हुई चार ड्रोन्‍स के जरिए. जानिए कैसे.

सुरक्षा व्‍यवस्‍था में तैनात एक अधिकारी के मुताबिक, “ये ड्रोन्‍स 3 सेंटीमीटर के स्‍पेशियल रेजोल्‍यूशन के साथ मैप बनाते हैं. यानी 3CM से बड़ी किसी भी चीज की तस्‍वीर ली जाती है. गूगल का स्‍ट्रीट व्‍यू 60CM के स्‍पेशियल रेजोल्‍यूशन से फोटोज लेता है.” भारतीय एजेंसियों के पास पूरे रूट के 3D विजुअल्‍स थे.

इन ड्रोन्‍स के अलावा छह ‘क्‍वाडकॉप्‍टर’ ड्रोन्‍स भी थे जो पुलिस कंट्रोल को लाइव फीड भेज रहा थे. यहां तमिलनाडु स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (STF) के जवान तैनात थे. इन कैमरों से 10 दिनों के भीतर 30 हजार हाई-क्‍वालिटी तस्‍वीरें ली गईं.

सब इमेजेस 100 मीटर की ऊंचाई से 14 मेगापिक्‍सेल रेजोल्‍यूशन के साथ ली गईं. बाद में इन्‍हीं एक साथ जोड़कर 3D मैप तैयार किया. इस मैप को फिर एक मोबाइल एप में फीड किया गया जिसे सिर्फ सिक्‍योरिटी टीम एक्‍सेस कर सकती थी.

शी जिनपिंग की सुरक्षा में हजारों पुलिसकर्मी

पूरे रूट में मौजूद इमारतों की छतों पर सुरक्षाबल तैनात थे. जमीन पर डीआईजी रैंक के चार और एसपी रैंक के 16 ऑफिसर्स 10,000 पुलिस कर्मचारियों को लीड कर रहे थे. शी जिनपिंग की सुरक्षा में मदद को 6 असिस्‍टेंट कमिश्‍नर्स, 16 इंस्‍पेक्‍टर्स, 48 सब-इंस्‍पेक्‍टर्स और 400 अन्‍य कर्मचारी भी हैं.

एयरपोर्ट पर एक क्विक रिएक्‍शन टीम (QRT) तैनात है. शी जिनपिंग जिस होटल में हैं, वहां भी तीन एसपी रैंक के अधिकारी इंचार्ज हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी के रूट्स तय करने के बाद, पुलिस ने तीन आपातकालीन रूट भी निर्धारित कर रखे हैं.

ये भी पढ़ें

देश के गद्दार ज़ाकिर नाइक को पनाह और कश्‍मीर पर PAK का साथ, मलेशिया भुगतेगा खामियाजा

जिस ‘वेष्टि’ को पहनकर जिनपिंग से मिले मोदी, उसके बिना अधूरी है तमिलनाडु की पहचान

शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल
शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल

Related Posts

शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल
शी जिनपिंग की सुरक्षा, गूगल से 20 गुना एडवांस्‍ड साबित हुईं भारतीय एजेंसियां, ऐसे बुना शी जिनपिंग की सुरक्षा का जाल