जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट पर लहराया गया तिरंगा, देखें VIDEO

जम्मू-कश्मीर अब न तो विशेषाधिकार प्राप्तख रहेगा और न ही पूर्ण राज्या बल्कि जम्मू-कश्मीर की जगह अब दो केंद्र शासित प्रदेश होंगे.

जम्मू-कश्मीर: जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष राज्‍य का दर्जा अब समाप्‍त हो गया है. अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे.

इस फैसले के बाद जम्मू कश्मीर के हाई कोर्ट में तिरंगा फहराया गया. गौरतलब है कि भारत का अभिन्न अंग होने के बावजूद जम्मू कश्मीर घाटी में जो भेदभाव की बातें होती थीं और अलग कानून, दो संविधान, दो झंडे ये तमाम चीजें अब खत्म कर दी गई हैं.

देश में एक विधान, एक कानून, एक तिरंगा लागू होने की ये प्यारी तस्वीर आपके सामने है.

Jammu Kashmir, जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट पर लहराया गया तिरंगा, देखें VIDEO

गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संकल्प पेश किया, जिसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संविधान आदेश (जम्मू-कश्मीर के लिए) 2019 के तहत अधिसूचना जारी कर दी.

मोदी सरकार के फैसले की बड़ी बातें

भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान अनुच्छेद को ख़त्म करने का फैसला किया है. ये हैं केंद्र के इस बड़े फ़ैसले की बड़ी बातें –

-गृहमंत्री ने संसद को बताया कि अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया गया है और इस आदेश पर राष्ट्रपति ने दस्तखत कर दिए हैं.

-अनुच्छेद 370 के खत्म होने के साथ अनुच्छेद 35-ए भी खत्म हो गया है, जिससे राज्य के ‘स्थायी निवासी’ की पहचान होती थी.

-सरकार ने अनुच्छेद 370 के खत्‍म करने के साथ ही प्रदेश के पुनर्गठन का भी प्रस्ताव किया है.

-जम्मू-कश्मीर अब न तो विशेषाधिकार प्राप्‍त रहेगा और न ही पूर्ण राज्‍य बल्कि जम्मू-कश्मीर की जगह अब दो केंद्र शासित प्रदेश होंगे.

-एक होगा जम्मू-कश्मीर, दूसरा- लद्दाख. दोनों केंद्र शासित प्रदेशों का शासन लेफ़्टिनेंट गवर्नर के हाथ में होगा.

-जम्मू-कश्मीर में दिल्‍ली की तरह विधानसभा होगी, जबकि लद्दाख में चंडीगढ़ की तरह शासन होगा, यहां विधानसभा नहीं होगी.

-अनुच्छेद 370 का केवल एक खंड बाक़ी रखा गया है, जिसके तहत राष्ट्रपति किसी बदलाव का आदेश जारी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- अयोध्या मामले में सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग मांग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- विचार करेंगे