पाकिस्‍तान की ‘गजनवी’ का मुकाबला करने को ‘पृथ्‍वी-2’ ही काफी, पढ़ें क्‍या बोले डिफेंस एक्‍सपर्ट

भारत के पास SRBM में 'पृथ्‍वी' मिसाइल्‍स की पूरी रेंज है. ये मिसाइलें 150 से लेकर 600 किलोमीटर के बीच मार कर सकती है.

पाकिस्‍तान ने बुधवार को शॉर्ट रेंज की मिसाइल ‘गजनवी’ के सक्‍सेसफुल टेस्‍ट का दावा किया. इसे कराची के तीन हवाई रूट बंद करने के कुछ देर बाद टेस्‍ट किया गया.

पाक आर्मी प्रवक्‍ता मेजर-जनरल आसिफ गफूर के मुताबिक, इस मिसाइल की रेंज 290 किलोमीटर है. दोनों देशों की शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल्‍स (SRBM) की मारक क्षमता की तुलना करें तो भारत, पाकिस्‍तान से कहीं आगे है.

डिफेंस एक्सपर्ट संजीव श्रीवास्तव ने कहा कि ‘गजनवी’ केवल मात्र एक गीदड़ भभकी है. गजनवी के लिए पृथ्वी-2 ही काफी है. उन्‍होंने कहा कि ‘पाकिस्तान के मिसाइल टेक्नॉलजी से भारत की मिसाइल टेक्नोलॉजी कई गुना बेहतर है.’

संजीव के मुताबिक, पाकिस्तान इस तरह के प्रक्षेपण से अन्तरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान अपनी ओर खींचना चाहता है. गुजरात के तटीय क्षेत्रों में सुरक्षा काफी कड़ी की गई है.

SRBM में भारत के आगे पाकिस्‍तान बौना

पाकिस्‍तान के पास ‘गजनवी’ और ‘शाहीन’ नाम की दो मिसाइलें हैं. ‘गजनवी’ की रेंज 290-300 किलोमीटर है, जबकि शाहीन-1 की रेंज 750-900 किलोमीटर होने का दावा पाकिस्‍तान करता है.

भारत के पास SRBM में ‘पृथ्‍वी’ मिसाइल्‍स की पूरी रेंज है. ये मिसाइलें 150 से लेकर 600 किलोमीटर के बीच मार कर सकती है. पृथ्‍वी-3 की रेंज 300-350 किलोमीटर है. ‘अग्नि’ मिसाइल्‍स के शुरुआती वर्जंस की रेंज ही 700 किलोमीटर से ज्‍यादा है. अग्नि-1 700-1,200 किलोमीटर दूर के टारगेट पर वार करने में सक्षम है. इसके अलावा ‘धनुष’ मिसाइल है जिसकी रेंज 250-400 किलोमीटर है.

ये भी पढ़ें

जिस PAK मंत्री पर लंदन में फेंके गए थे अंडे, उसने बताया कब होगा भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध

दिवालिया होने की कगार पर पाकिस्तान, कट सकती है प्रधानमंत्री सचिवालय की बिजली