‘सिर्फ अग्रवाल-वैश्य करें अप्लाई’, रेलवे कॉन्ट्रेक्टर ने नौकरी के लिए निकाला विज्ञापन तो मच गया बवाल

विज्ञापन में लिखा था कि 'IRCTC (इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन) में नौकरी के लिए अग्रवाल व वैश्य समुदाय के 100 लोगों की आवश्यकता है.'

भारतीय रेलवे के केटरिंग विंग ‘IRCTC’ में नौकरी के लिए निकाला गया एक विज्ञापन विवादों में घिर गया है. इस विज्ञापन की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हो रही है. ‘IRCTC’ के साथ जुड़े एक प्राइवेट कॉन्ट्रेक्टर आरके एसोसिएट्स ने कुछ दिनों पहले अखबार में रेलवे से जुड़ी नौकरी के लिए एक विज्ञापन निकाला था. बता दें कि आरके एसोसिएट्स रेलवे का एक जाना-माना हॉस्पिटैलिटी कॉन्ट्रेक्टर है.

‘अग्रवाल व वैश्य समुदाय के 100 लोगों की आवश्यकता’
विज्ञापन में लिखा था कि ‘ IRCTC (इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन) में नौकरी के लिए अग्रवाल व वैश्य समुदाय के 100 लोगों की आवश्यकता है. कैंडिडेट्स का फैमिली बैकग्राउंड अच्छा होना चाहिए.’ मालूम हो कि भारतीय रेलवे अपने कॉन्ट्रेक्टर्स को जाति या धर्म के आधार पर कैंडिडेट्स के चुनाव की इजाजत नहीं देता है.

बुधवार को छपे इस विज्ञापन के अनुसार, रेलवे स्टेशनों के फूड प्लाजा के लिए मैनेजर पोस्ट, ट्रैन कैटरिंग, बेस किचन और स्टोर के लिए कैंडिडेट्स की आवश्यकता है. यह विज्ञापन सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. यूजर्स ने इस विज्ञापन की कड़ी आलोचना की. साथ ही आरके एसोसिट्स की खिंचाई भी शुरू कर दी.

Indian Railway Agarwal Vaishya community Job, ‘सिर्फ अग्रवाल-वैश्य करें अप्लाई’, रेलवे कॉन्ट्रेक्टर ने नौकरी के लिए निकाला विज्ञापन तो मच गया बवाल

गुरुवार को आईआरसीटीसी ने कंपनी से इस पर जवाब मांगा. इस पर आरके ने बताया कि भर्ती संबंधी विज्ञापन के लिए एचआर डिपार्टमेंट का मैनेजर जिम्मेदार है. इस विज्ञापन को लेकर उसे उसके पद से हटा दिया गया है.

रेलवे ने कंपनी को भेजा ‘स्ट्रॉन्ग डिस्प्यूट लेटर’
भारतीय रेलवे ने इसे लेकर कंपनी को ‘स्ट्रॉन्ग डिस्प्यूट लेटर’ भेजा है. रेलवे में कार्यरत कुछ अधिकारियों का मानना है कि इस तरह का विज्ञापन निकालना गैर-कानूनी है और आरके का कॉन्ट्रैक्ट रद्द कर दिया जाना चाहिए.

गौरतलब है कि कंपनी अपनी वेबसाइट पर दावा करती है कि वो पिछले दो दशकों से 150 रेलों में, जिनमें राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस जैसी रेलों में केटरिंग करती है. कंपनी मील्स ऑन व्हील्स नाम से केटरिंग करती है.

ये भी पढ़ें-

कर्नाटक के दो पूर्व क्रिकेटर अरेस्‍ट, 20 लाख रुपये लेकर फिक्‍स किया था फाइनल

ऋषभ पंत से हुई बड़ी गलती, स्टंपिंग कर मनाने लगे जश्न, थर्ड अंपायर ने दी NO BALL

15 साल के युवा गेंदबाज ने तोड़ा अनिल कुंबले के 10 विकेट का रिकॉर्ड, कहा- मुझे अभी भी यकीन नहीं