चीन की तर्ज पर Facial Recognition System लागू करेगा इंडियन रेलवे, जानें कैसे करेगा काम

भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. करोड़ों लोग रोजाना रेलवे से सफर करते हैं. भारतीय रेल ने कैमरे के माध्यम से देश का सबसे बड़ा सर्विलांस सिस्टम स्थापित करने का फैसला किया है.

भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. करोड़ों लोग रोजाना रेलवे से सफर करते हैं. भारतीय रेल ने कैमरे के माध्यम से देश का सबसे बड़ा सर्विलांस सिस्टम स्थापित करने का फैसला किया है. रेलवे ने फेस रिकग्निशन सिस्टम मजबूत करने के लिए टेंडर जारी किया है. रेलवे स्टेशनों और तमाम रेलवे की संपत्तियों पर लगे सीसीटीवी कैमरे के डेटा एक सेंट्रल कमांड रूम में रहेंगे.

अपराधियों को पकड़ने के लिए इस कार्यक्रम को बड़ी कामयाबी के रूप में देखा जा रहा है. चीन ने face recognition की व्यवस्था शुरू की है. उसी तर्ज पर भारत में भी ये शुरू करने के लिए रेलवे ने टेंडर जारी कर दिया है. जनरल सर्विलांस का ये देश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट साबित हो सकता है.

कैसे करेगा काम

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आधार पर सीसीटीवी के जरिए लोगों के चेहरे का डेटा लगातार स्टोर किया जाएगा. अगर कोई अपराधी रेलवे परिसर में आया तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए तुरंत लाइव फीड में उसे पहचाना जा सकेगा. उसकी पहचानकर तत्काल कार्रवाई की जा सकेगी.

अब नहीं कर सकेंगे जवान स्मार्टफोन-सोशल मीडिया का इस्तेमाल, नौसेना ने लगाया बैन

CAA विरोधी प्रदर्शनों के चलते ताजमहल आने वाले वाले पर्यटकों में भारी गिरावट