भारत और नेपाल में बुद्ध से जुड़े स्थानों की यात्रा कराएगी भारतीय रेल

भारतीय रेलवे शनिवार से पहली बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन चलाने वाला है, जो कि 26 अक्टूबर तक भारत और नेपाल में गौतम बुद्ध से संबंधित स्थलों के रूट पर चलेगी.

भारतीय रेलवे शनिवार से पहली बुद्धिस्ट सर्किट ट्रेन चलाने वाला है, जो कि 26 अक्टूबर तक भारत और नेपाल में गौतम बुद्ध से संबंधित स्थलों के रूट पर चलेगी.

रेलवे ने एक बयान में बताया कि IRCTC जिन स्थानों को कवर करने के लिए ट्रेन चलाएगा उनमें लुंबिनी- जहां बुद्ध का जन्म हुआ था, बोधगया- जहां उन्होंने आत्मज्ञान प्राप्त किया, सारनाथ- जहां उन्होंने अपना पहला उपदेश दिया और कुशीनगर- जहां उन्होंने निर्वाण प्राप्त किया, शामिल हैं.

बयान में कहा गया है, “इन स्थलों का महत्व महापरिनिर्वाण सूत्र में देखा जा सकता है, जिसमें भगवान बुद्ध अपने अनुयायियों से कहते हैं कि वे इन स्थानों की तीर्थ यात्रा पर जा कर योग्यता और एक श्रेष्ठ पुनर्जन्म प्राप्त कर सकते हैं.”

इस पैकेज के तहत अगर कोई भारतीय यात्री जोड़ा एसी फर्स्ट क्लास में सफर करना चाहता है, तो उसे 1,23,900 रुपए का भुगतान करना होगा. जबकी एसी टू टियर के लिए 1,01,430 रुपए प्रति जोड़ा किराया है.

वीजा के लिए अलग से करना होगा भुगतान

पैकेज में नेपाल के दौरे के लिए एसी डीलक्स कोच, स्मारकों और स्थानों का दौरा, आवास, भोजन, टूर मैनेजर की सेवाएं, गाइड, प्रवेश शुल्क और यात्रा बीमा के लिए सड़क परिवहन शामिल होगा. हालांकि, यात्रियों को नेपाल यात्रा के वीजा और कपड़े धोने सहित अन्य सेवाओं जैसे किसी अन्य खर्च के लिए अलग से भुगतान करना होगा.

ट्रेन में 96 सीटों के साथ चार फर्स्ट एसी कोच, 60 सीटों के साथ दो सैकंड एसी कोच, प्रत्येक में 64 यात्रियों की क्षमता के साथ दो विशेष डाइनिंग कार और एक पेंट्री कार होगी.

ट्रेन पर अतुल्य भारत को बढ़ावा देने के लिए बैनर लगे होंगे और यह पर्सनल डिजिटल लॉकर, क्यूबिकल शॉवर, फुट मसाजर्स की सुविधा से भी सुसज्जित होगी. रेलवे ने कहा कि प्रत्येक कोच में निजी सुरक्षा गार्ड तैनात किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें: वनडे क्रिकेट में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक लगाने वाला बल्लेबाज बना मुंबई का ये खिलाड़ी