कोरोना संकट से भारत की वैक्सीन ही पूरी मानवता को बाहर निकालेगी: UNGA में PM मोदी

संयुक्त राष्ट्र (UN) में अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि महामारी के बाद बनी परिस्थितियों के बाद हम आत्मनिर्भर भारत (Aatmnirbhar Bharat) के विजन को लेकर आगे बढ़ रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने संयुक्त राष्ट्र (UN) के 75 साल पूरे होने पर UNGA को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि भारत की कोरोना वैक्सीन प्रोडक्शन और डिलीवरी की क्षमता पूरी मानवता को इस संकट से बाहर निकालेगी. उन्होंने आगे कहा कि महामारी के बाद के हालात में हम आत्मनिर्भर भारत के विजन को लेकर आगे बढ़ रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र में बदवाल की बात करते हुए पूछा कि पिछले 8-9 महीने से पूरा विश्व कोरोना वैश्विक महामारी से संघर्ष कर रहा है. इस वैश्विक महामारी से निपटने के प्रयासों में संयुक्त राष्ट्र कहां है? उन्होंने पूछा, “एक प्रभावशाली रिस्पांस कहां है?”

मोदी ने अपने संबोधन में कहा, “विश्व के सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक देश के तौर पर आज मैं वैश्विक समुदाय को एक और आश्वासन देना चाहता हूं कि भारत की कोरोना वैक्सीन प्रोडक्शन और डिलीवरी की क्षमता पूरी मानवता को इस संकट से बाहर निकालने के लिए काम आएगी.”

वैश्विक स्तर पर आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहमियत

पीएम ने आगे कहा कि महामारी के बाद बनी परिस्थितियों के बाद हम आत्मनिर्भर भारत (Aatmnirbhar Bharat) के विजन को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. आत्मनिर्भर भारत अभियान, वैश्विक अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा.

उन्होंने बताया कि बताया कि कोरोना महामारी के इस मुश्किल समय में भी भारत की दवा बनाने वाली कंपनियों ने 150 से ज्यादा देशों को जरूरी दवाइयां भेजीं हैं.

जब हम मजबूत थे तो दुनिया को कभी सताया नहीं, पढ़ें UNGA में PM मोदी के संबोधन की खास बातें

नरेंद्र मोदी ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75 वें सत्र में आम सभा को संबोधित करते हुए इस अंतरराष्ट्रीय संस्था की कार्यप्रणाली में व्यापक बदलावों पर जोर दिया. साथ ही उन्होंने सुरक्षा परिषद (UNSC) में स्थायी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी पर भी अपनी रखी.

Related Posts