भारत की 8 कोर इंडस्ट्रीज में 15 फीसदी की गिरावट, जून-2020 में प्रोडक्शन रेट नेगेटिव

सीरियल बेसिस पर इन आठ प्रमुख उद्योगों (Eight core industries) के सूचकांक में जून में 15 प्रतिशत (प्रोविजनल) की गिरावट रही, जबकि पिछले महीने यानी मई में 22 प्रतिशत की गिरावट थी.

भारत के आठ प्रमुख उद्योगों (Eight core industries) का प्रोडक्शन रेट जून 2020 में भी नेगेटिव बना रहा है. जून महीने में 15 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

IANS न्यूज एजेंसी के मुताबिक, शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़े से यह जानकारी सामने आई है. हालांकि, आर्थिक गतिविधियों के खोले जाने के कारण आठ प्रमुख उद्योगों (ECI) के सूचकांक में गिरावट की दर में सीरियल बेसिस पर कमी आई है.

जून में 15 प्रतिशत की गिरावट

सीरियल बेसिस पर इन आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक में जून में 15 प्रतिशत (प्रोविजनल) की गिरावट रही, जबकि पिछले महीने यानी मई में 22 प्रतिशत की गिरावट थी. जून 2019 में ECI सूचकांक में 1.2 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई थी.

“अप्रैल-जून 2020-21 के दौरान ग्रोथ रेट नेगेटिव”

डिपार्टमेंट ऑफ प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड के आर्थिक सलाहकार कार्यालय ने जारी एक बयान में कहा है, “अप्रैल-जून 2020-21 के दौरान ग्रोथ रेट नेगेटिव 24.6 प्रतिशत थी.”

बयान में कहा गया है, “मार्च 2020 के लिए आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक का अंतिम बढ़त दर संशोधित करने के बाद नेगेटिव 8.6 प्रतिशत है.”

कौनसी हैं वो आठ प्रमुख इंडस्ट्री?

इन आठ प्रमुख उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली शामिल हैं. इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन इंडेक्स IIP में ईसीआई की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत से अधिक है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts