कोरोना काल में सबसे ऊंचे स्‍तर पर पहुंचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, 3.4 अरब डॉलर की हुई बढ़ोतरी

विदेशी पूंजी भंडार में विदेशी मुद्रा भंडार (एफसीए), स्वर्ण भंडार, विशेष आहरण अधिकार (Special drawing right) और अंतंर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) में भारतीय भंडार शामिल होते हैं.
Foreign Exchange Reserves, कोरोना काल में सबसे ऊंचे स्‍तर पर पहुंचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, 3.4 अरब डॉलर की हुई बढ़ोतरी

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के दौरान भारत के लिए एक अच्छी सी खबर है. देश के विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Exchange Reserves) में बढ़ोतरी हो रही है. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के आंकड़ों के मुताबिक, 29 मई 2020 को समाप्त के आखिर में देश के विदेशी मुद्रा भंडार में 3.436 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है. इसके ही मुद्रा भंडार में 493.480 अरब डॉलर इकट्ठे हो गए हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

ये अब तक की सबसे हाइजेस्ट ग्रोथ है. इससे पहले 22 मई 2020 को 3.005 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ देश के विदेशी मुद्रा भंडार 490.044 अरब डॉलर हो गया था.

विदेशी पूंजी भंडार में विदेशी मुद्रा भंडार (एफसीए), स्वर्ण भंडार, विशेष आहरण अधिकार (Special drawing right) और अंतंर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) में भारतीय भंडार शामिल होते हैं.

साप्ताहिक आधार पर विदेशी पूंजी भंडार में सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार 3.503 अरब डॉलर बढ़कर 455.208 अरब डॉलर हो गया. हालांकि देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 970 लॉख डॉलर घटकर 32.682 अरब डॉलर पर आ गया लेकिन एसडीआर मूल्य 1.432 अरब डॉलर पर बरकरार रहा. देश का आईएमएफ में भंडार 310 लाख डॉलर बढ़कर 4.158 अरब डॉलर हो गया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts