पाकिस्तान संसद के संयुक्त सत्र में जोरदार हंगामा, इमरान समर्थकों-विपक्षी नेताओं के बीच हाथापाई, VIDEO

राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान ही विपक्षी नेताओं ने सदन के भीतर हंगामा शुरू कर दिया. वापस जाओ-वापस जाओ के नारे लगने लगे. इतना ही नहीं इमरान समर्थकों और विपक्षी नेताओं के बीच हाथापाई की नौबत आ गई.


इस्लामाबाद: कश्मीर मसले पर दुनिया भर में थू-थू कराने के बाद अब पाकिस्तान को अपने घर में भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी सरकार के दूसरे वर्ष का कार्यकाल शुरू होने पर संयुक्त सत्र के मौके पर अभिभाषण शुरू करते ही न केवल विपक्ष के विरोध का सामना करना पड़ा बल्कि उन्हें वापस जाने के नारे भी लगाये गए.

ये विरोध इतना बढ़ गया कि धक्का-मुक्की तक की नौबत आ गई. इस दौरान प्रधानमंत्री इमरान खान, नौसेना एवं वायु सेना के प्रमुख तथा ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टॉफ कमेटी के अध्यक्ष भी मौजूद थे. राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान ही विपक्षी नेताओं ने सदन के भीतर हंगामा शुरू कर दिया. वापस जाओ-वापस जाओ के नारे लगने लगे. इतना ही नहीं इमरान समर्थकों और विपक्षी नेताओं के बीच हाथापाई की नौबत आ गई. कश्मीर मुद्दे पर इमरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी हुई.

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी (arif alvi) ने संसद में सरकार के कामकाज की तारीफ की. पाक राष्ट्रपति (pak president) ने अपने संबोधन में कहा कि कश्मीर को लेकर इमरान सरकार (imran government) की रणनीति के कारण ही दुनिया का ध्यान इस विवादित क्षेत्र पर खींचने में कामयाबी मिली है.

राष्ट्रपति के संबोधन के बीच में ही पाकिस्तान की मुख्य विपक्षी पार्टियां पीएमएल-एन (pml-n) और पीपीपी (ppp) ने इमरान सरकार की कश्मीर नीति की आलोचना करते हुए इसे पूरी तरह असफल बताया है. साथ ही विरोधी दलों ने इमरान खान की कश्मीर पॉलिसी पर ही सवाल उठा दिया है.