indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग
indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग

इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग

देश की नंबर वन एयरलाइंस में मालिक भिड़ गए हैं. हालात इतने खराब हैं कि मामला सेबी तक जा पहुंचा है.
indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग

देश में एविएशन सेक्टर के दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं. अब तक कई कंपनियां दिवालिया हालत में बंद हो गई हैं लेकिन ताज़ा मामला लो कॉस्ट एयरलाइन इंडिगो का है जो अंदरुनी झगड़े में फंसती दिख रही है. बताया जा रहा है कि इंडिगो के प्रमोटर राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल एक-दूसरे से भिड़ गए हैं. झगड़ा इतना बढ़ चुका है कि दोनों दोस्त मार्केट रेगुलेटर सेबी की शरण में पहुंच गए हैं.

हालात इतने खराब हैं कि 37% शेयर रखनेवाले राकेश गंगवाल ने 38% हिस्सेदारी के मालिक राहुल भाटिया पर आरोप लगाया कि कंपनी में कॉरपोरेट गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से भी बदतर है. जैसे ही कंपनी प्रमोटर्स में दरार की खबर निकली वैसे ही इंडिगो के शेयर में टूट देखने को मिली.

indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग

दरअसल राकेश गंगवाल जो कंपनी में नॉन एक्ज़ीक्यूटिव डायरेक्टर हैं सेबी से एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल बैठक बुलाने की अनुमति मांग रहे हैं. वो आरोप लगा रहे हैं कि भाटिया दूसरी कंपनियां खड़ी कर रहे हैं जो इंडिगो के साथ विवादित रिलेटेड-पार्टी ट्रांज़ेक्शन में शामिल हैं. उधर राहुल भाटिया जिनके पास कंट्रोलिंग राइट्स हैं ने उल्टा गंगवाल पर इल्ज़ाम लगाया कि उनकी आरजी ग्रुप सिर्फ इंडिगो की प्रतिष्ठा धूमिल करने के लिए ऐसा कर रही है.

indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग
राकेश गंगवाल

वैसे दोनों ही प्रमोटर्स को एक-दूसरे से कई शिकायतें हैं लेकिन पिछली गर्मियों में इंडिगो के प्रेसिडेंट आदित्य घोष ने कंपनी छोड़ दी थी. उनसे पहले कंपनी के मुख्य कमर्शियल और नेटवर्क चीफ संजय कुमार ने भी इंडिगो छोड़ी थी. तब इंडिगो के कर्मचारियों ने पहली बार कंपनी में काम करने के माहौल को लेकर भी शिकायत की थी.

indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग
राहुल भाटिया

गंगवाल अमेरिकी नागरिक हैं जिन्होंने एयर फ्रांस, यूएएस एयरवेज़ और यूएस एयरवेज़ में काम किया है. वो खेतान एंड कंपनी के साथ मिलकर इस विवाद को सुलझाने में जुटे हैं जबकि भाटिया ने जेएसए लॉ का साथ लिया है. साल 2003 में दोनों दोस्त राकेश गंगवाल और राहुल भाटिया ने मिलकर इंडिगो एयरलाइंस लॉन्च की थी जिसने बाद में जबरदस्त विस्तार करते हुए मार्केट में नंबर एक की पोजीशन पर कब्ज़ा किया.

indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग
indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग

Related Posts

indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग
indigo, इंडिगो एयरलाइंस में गवर्नेंस की हालत पान की दुकान से खराब, दोनों मालिकों में छिड़ी जंग