अपने आखिरी सफर पर चल पड़ा INS विराट, ब्रिटेन और भारतीय नौसेना की शान रहा ये विमानवाहक पोत

सिर्फ भारतीय नौसेना (Indian Navy) में ही नहीं बल्कि ब्रिटेन की रॉयल नेवी में भी INS विराट (INS Virat) ने 25 साल तक अपनी सेवाएं दी हैं. आईएनएस विराट को 6 मार्च 2017 को नौसेना से रिटायर्ड यानी सेवा मुक्त कर दिया गया था.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 4:54 pm, Sat, 19 September 20

करीब 30 साल तक नौसेना की शान रहा विमानवाहक पोत INS विराट (INS Virat) अब अपने आखिरी सफर की ओर निकल पड़ा है. शनिवार को INS विराट गुजरात के भावनगर स्थित अलंग के चल दिया, जहां शिप ब्रेकिंग यार्ड में इसे तोड़ दिया जाएगा.

सिर्फ भारतीय नौसेना (Indian Navy) में ही नहीं बल्कि ब्रिटेन की रॉयल नेवी में भी INS विराट ने 25 साल तक अपनी सेवाएं दी हैं. आईएनएस विराट को 6 मार्च 2017 को नौसेना से रिटायर्ड यानी सेवा मुक्त कर दिया गया था. विराट भारत से पहले ब्रिटेन की रॉयल नेवी में एचएमएस हर्मिस के रूप में शामिल रहा, लेकिन भारतीय नौसेना में आने के बाद इसका नाम विराट रखा गया.

रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि “विराट को शुक्रवार को अलंग के लिए रवाना होना था, लेकिन इसके प्रस्थान में एक दिन की देरी हुई.” आखिरी यात्रा पर रवाना होते समय नौसेना के एक हेलिकॉप्टर ने विराट के ऊपर परिक्रमा करते हुए, उसे अंतिम विदाई भी दी.

मालूम हो कि नौसेना से रिटायर किए जाने के बाद INS विराट को रेस्टोरेंट या किसी म्यूजियम में बदले की योजना चल रही थी, लेकिन इस पर अभी कोई काम नहीं हुआ है. मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया से नौसेना के कई पूर्व अधिकारियों ने भी विराट को भावनात्मक विदाई दी थी.

INS विराट की खासियत और उसके ऑपरेशंस

  • आईएनस विराट करीब 226 मीटर लंबा और 49 मीटर चौड़ा है.
  • नौसेना में शामिल होने के बाद इसने जुलाई 1989 में ऑपरेशन जूपिटर में श्रीलंका में शांति स्थापना के ऑपरेशन में हिस्सा लिया.
  • साल 2001 में भारतीय संसद पर हमले के बाद ऑपरेशन पराक्रम में भी विराट की अहम भूमिका थी.
  • इस समुद्री महायोद्धा ने दुनिया के 27 चक्कर लगाए, जिसमें इसने 1 करोड़ 94 हजार 215 किलोमीटर का सफर किया.