शिमला में स्पेस स्टेशन की झलक, जानिए- फिर कब दिखेगा अंतरिक्ष का ये अद्भुत नजारा

अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने शिमला में इस स्पेस स्टेशन को देखे जाने का शेड्यूल जारी किया है.
International Space Station, शिमला में स्पेस स्टेशन की झलक, जानिए- फिर कब दिखेगा अंतरिक्ष का ये अद्भुत नजारा

राजधानी शिमला से अंतरिक्ष में अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (International Space Station) दौड़ता हुआ नजर आया. शनिवार को यह स्टेशन शिमला से 400 किलोमीटर ऊपर अंतरिक्ष में एक चमकीले तारे की तरह दिखाई दिया. यह पृथ्वी की परिक्रमा करता हुआ देखा जा रहा है.

यह स्पेस स्टेशन छह फरवरी से लेकर 11 फरवरी तक देखा जा सकेगा. अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने शिमला में इस स्पेस स्टेशन को देखे जाने का शेड्यूल जारी किया है.

International Space Station, शिमला में स्पेस स्टेशन की झलक, जानिए- फिर कब दिखेगा अंतरिक्ष का ये अद्भुत नजारा

8 फरवरी को यह स्पेस स्टेशन सात बजकर 20 मिनट पर पश्मिोत्तर (नॉर्थवेस्टर्न) में निकला. इसके बाद यह दक्षिण-दक्षिण-पूर्व में 31 डिग्री पर छिप गया. 9 फरवरी को यह स्टेशन छह बजकर 32 मिनट से उत्तर-पश्चिम दिखना आरंभ होगा और इसे छह मिनट तक देख सकेंगे.

International Space Station, शिमला में स्पेस स्टेशन की झलक, जानिए- फिर कब दिखेगा अंतरिक्ष का ये अद्भुत नजारा

इसे पूर्व-दक्षिण-पूर्व में देखा जाएगा. 10 फरवरी को यह सात बजकर 24 मिनट पर दक्षिण-पश्चिम में 17 डिग्री पर दिखेगा. दो मिनट बाद दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में अस्त होगा. 11 फरवरी को यह छह बजकर 37 मिनट पर दक्षिण-पश्चिम में 32 डिग्री पर नजर आना शुरू होगा, जिसके बाद यह दक्षिण-दक्षिण-पूर्व में तीन मिनट बाद दक्षिण-दक्षिण-पूर्व में अस्त होगा.

स्पेस स्टेशन क्या होता है?

स्पेस स्टेशन को ऑर्बिटल स्टेशन भी कहते है. इसको इंसानों को रहने के लिए सभी सुविधाएं हो ध्यान में रखते हुए बनाया गया है. यानी यह अंतरिक्ष में मानव निर्मित ऐसा स्टेशन है, जिससे पृथ्वी से कोई अंतरिक्ष यान जाकर मिल सकता है. इसके अलावा इसमें इतनी क्षमता होती है कि इस पर अंतरिक्ष यान उतारा जा सके.

इन्हें पृथ्वी की लो-ऑर्बिट कक्षा में ही स्थापित किया जाता है. हम आपको बता दें कि स्पेस स्टेशन एक प्रकार का मंच है जहां से पृथ्वी का सर्वेक्षण किया जा सकता है, आकाश के रहस्यों को मालूम किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें-

ISRO का मिशन गगनयान, फीमेल रोबो Vyommitra अंतरिक्ष से भेजेगी रिपोर्ट

ISRO ने लॉन्च किया GSAT-30 सैटेलाइट, 2020 के इस पहले अंतरिक्ष मिशन की यह है खासियत

Related Posts