सीबीआई के बाद अब ईडी भी मांग सकता है चिदंबरम की रिमांड, ये है वजह

प्रवर्तन निदेशालय ने आईएनएक्स मीडिया मामले में 2018 में धनशोधन का एक मामला दर्ज किया था.

नई दिल्ली: आईएनएक्स मीडिया मामले में ईडी के जांच अधिकारी राकेश आहूजा का गुरुवार को तबादला कर दिया गया. राकेश आहूजा को वापस दिल्ली पुलिस भेजा गया है. इस मामले की जांच का जिम्मा नए जांच अधिकारी को सौंपा गया है. राकेश आहूजा इस मामले की जांच में शुरू से जुड़े हुए थे. वह प्रवर्तन निदेशालय सहायक निदेशक के पद पर कार्यरत थे. प्रवर्तन निदेशालय के मुताबिक राकेश आहूजा का कार्यकाल 3 सप्ताह पहले ही पूरा हो गया था.

सीबीआई के बाद अब ईडी भी कोर्ट से पी चिदंबरम की रिमांड मांगेगी और उसके बाद पी चिदंबरम से ईडी की नई टीम पूछताछ करेगी.

आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 में प्राथमिकी दर्ज की थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि 2007 में जब चिदंबरम वित्त मंत्री थे तब 305 करोड़ रुपये की विदेशी धनराशि प्राप्त करने के लिए मीडिया समूह को दी गई विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) मंजूरी में अनियमितताएं बरती गईं.

प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में 2018 में धनशोधन का एक मामला दर्ज किया.

प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है कि पी चिदंबरम के बेटे ने कथित घोटाले की रकम से स्‍पेन में एक टेनिस क्‍लब, ब्रिटेन में कॉटेज और भारत में 54 करोड़ रुपये से ज्यादा की प्रापर्टी खरीदी है.

चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई सारदा चिटफंड घोटाले में आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है. उन पर 1.4 करोड़ रुपये की कथित रिश्वत लेने का आरोप है.

इस साल फरवरी में कलकत्ता हाई कोर्ट ने उन्हें मामले में गिरफ्तारी से अंतरिम राहत दी थी.

प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम से एयर इंडिया से जुड़े एक खरीद मामले की जांच में सहयोग करने को कहा था. इस मामले में चिदंबरम के पूर्व मंत्रिमंडलीय सहयोगी प्रफुल पटेल से भी जांच एजेंसी ने पूछताछ की थी.

इसके अलावा मद्रास हाई कोर्ट ने चिदंबरम, नलिनी, कार्ति, कार्ति की पत्नी श्रीनिधि कार्ति चिदंबरम पर काला धन (अज्ञात विदेशी आय एवं परिसंपत्ति) तथा कर अधिनियम, 2015 के अधिरोपण के तहत मुकदमा चलाने के लिए पिछले साल नवंबर में आयकर विभाग द्वारा जारी मंजूरी संबंधी आदेश रद्द कर दिए थे.

हाई कोर्ट के आदेश को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी गई. फिलहाल यह मामला लंबित है.

सीबीआई ने इन आरोपों की भी प्राथमिक जांच शुरू की है कि तमिलनाडु में एक होटल पूर्व वित्त मंत्री के एक संबंधी ने इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) के अधिकारियों की कथित मिलीभगत से हड़प लिया है.

इसके अलावा चिदंबरम के खिलाफ इशरत जहां मामले से जुड़े एक हलफनामे में कथित छेड़छाड़ करने से संबंधित शिकायत दिल्ली पुलिस में लंबित है. आरोप है कि जब हलफनामे में छेड़छाड़ की गई थी तब चिदंबरम गृह मंत्री थे.