चिदंबरम ने पैसा लिया तो किस गाड़ी से लाया गया, कौन से अकाउंट में डाला गया? कपिल सिब्बल ने पूछा सवाल, VIDEO

कोर्ट रूम के भीतर जज सभी पक्षों की दलीलें सुन रहे हैं. कपिल सिब्बल के बाद अब अभिषेक मनु सिंघवी दलीलें पेश कर रहे हैं.

नई दिल्ली: आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को आज राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट पहुंचने के बाद चिदंबरम ने अपने वकील विवेक तन्खा, कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाकात की. इसके बाद चिदंबरम को कठघरे में खड़ा किया गया.

कोर्ट रूम में क्या-क्या बातें हो रही हैं…
कपिल सिब्बल ने अदालत में कहा कि इस मामले में जांच हो चुकी है. चार्जशीट सेक्शन के लिये गयी है, क्योंकि मामले में आरोपी अधिकारी है. आरोपी अधिकरियों के खिलाफ सेंक्शन नहीं मिला है.

कपिल सिब्बल ने कहा कि इस केस में 6 अधिकरी है. इनमें से कई अधिकारी बड़े पद पर हैं. डी सुब्बाराव रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया का गवर्नर मिला. एक अधिकारी सीईओ नीति आयोग है. लिहाजा, अभी तक चार्जशीट पर संज्ञान नहीं मिला है. सीबीआई ने पांच दिन की पुलिस रिमांड मांगी है. हालांकि अभी रिमांड नहीं मिली है.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि INX मीडिया मामले में रकम का ट्रंसफार हुआ.

सीबीआई ने अदालत से कहा कि NBW जारी होने के बाद हमने पी चिदंबरम को गिरफ्तार किया और 24 घंटे के भीतर हमनें पेश किया.

तुषार मेहता ने कहा कि चिदंबरम जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. अदालत ने चिदंबरम को बैठने को कहा पर चिदंबरम ने कहा कि वो ठीक हैं. अदालत का शुक्रिया किया.
ईडी ने चिदम्बरम के खिलाफ चार और मामलों में जांच तेज कर दी है. सभी कारोबारी सौदों से जुड़े केस है जिनमे चिदंबरम का नाम सामने आया है. इन सभी केस से जुड़े जांच अधिकारियों को जांच में तेजी लाने के आदेश दिए गए हैं.

सिब्बल ने कहा कि जब सीबीआई की टीम पहुंची चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिए पहुंची तो चिंदबरम ने उनसे आग्रह किया कि वो पिछली रात सोए नहीं है. सीबीआई चाहे तो उन्हें कल गिरफ्तार कर सकती है, पर सीबीआई ने इंकार कर दिया.

CBI ने चिदंबरम से पूछा कि क्या आपका विदेश में बैंक एकाउंट है. चिदंबरम ने जवाब दिया नहीं फिर पूछते है कि कार्ति का है तो कार्ति का बैंक एकाउंट आरबीआई से परमिशन लेकर है. सिब्बल ने कहा कि सीबीआई जानबूझकर टाइम बर्बाद कर रही है. जितने सवाल पूछे गए, सबका जवाब चिदंबरम ने दे दिया है.

चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने अदालत के सामने अपनी दलील पेश की. सिब्बल ने कहा कि अगर चिदंबरम ने पैसा लिया है तो जरूर किसी एकाउंट में गया होगा. क्या कैश में दिया. अगर कैश में दिया तो कौन से बैग में दिया. कौन सी गाड़ी में आया क्या ये कहीं लिखा है.

सिब्बल ने कहा कि बार-बार उन्हीं 12 सवालों को चिदंबरम से पूछा जाता है और वो 6 जवाब देते है. 2017 के बाद चिदंबरम को गिरफ्तार करना चाहिए था. पुलिस कस्टडी कम से कम 7 दिन का वक्त मांगना चाहिए था. आप समझ सकते हैं कि कितने सीरियस है. इस मामले में दो लोग जमानत पर हैं.

सिब्बल ने कहा कि सभी आरोपियों को इस मामले में जमानत मिल चुकी है. CBI को अगर कुछ दस्तावेज़ चाहिए था तो इसके लिए पी चिदंबरम को लेटर लिखना चाहिए था, लेकिन CBI ने ऐसा नहीं किया.