राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे पर बोलीं स्मृति, ‘क्या माइक और कुर्सी तोड़ना सही है’

राज्यसभा (Rajyasabha) में रविवार को दो कृषि विधेयकों को ध्वनि मत से पारित किया गया. लोकसभा में गुरुवार को इस बिल को पास किया जा चुका है. राज्यसभा में विपक्ष ने इस बिल को लेकर जोरदार हंगामा किया.

राज्यसभा में रविवार को कृषि बिलों (Farm Bill) पर चर्चा के दौरान विपक्ष का जोरदार हंगामा देखने को मिला. इस हंगामे में सबसे ज्यादा चर्चा में TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन रहे जो उपसभापति के पास पहुंच गए. यहां वो वेल में घुस गए. जहां उन्होंने उपसभापति हरिवंश को सदन की नियमावली दिखाई और कृषि बिल से जुड़े कागज छीनने का प्रयास किया. इस घटना की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने घोर निंदा की है. उन्होंने कहा कि उपसभापति की चेयर पर जिस तरह से हमला हुआ वह दुखद है.

आपको बता दें कि राज्यसभा में रविवार को दो कृषि विधेयकों को ध्वनि मत से पारित किया गया. लोकसभा में पहले ही इस बिल को पास किया जा चुका है. राज्यसभा में विपक्ष ने इस बिल को लेकर जोरदार हंगामा किया. बिल पास होने के बाद कुछ सांसदों ने सदन के अंदर ही धरना प्रदर्शन किया. इस घटना की कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने घोर निंदा की है.

उन्होंने कहा कि ”जिस तरह से उपसभापति की चेयर पर हमला हुआ वह दुखद है. क्या यह इस देश की राजनीति के लिए उपयुक्त है? क्या कुर्सी तोड़ना और माइक तोड़ना सही है? सदन की चेयर पर सिर्फ उपसभापति ही नहीं बल्कि राष्ट्र के उपाध्यक्ष भी बैठते हैं”.

रक्षामंत्री ने भी की घटना की निंदा

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने भी इस घटना की निंदा की है. एस प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजनाथ सिंह ने कहा कि आज कृषि से संबंधित 2 विधेयकों पर चर्चा चल रही थी उस समय राज्यसभा में जो हुआ वो दुखद तो था ही, बेहद दुर्भाग्यपूर्ण भी था. ये दोनों विधेयक किसान और कृषि जगत के लिए ऐतिहासिक हैं. इससे किसानों की आय बढ़ेगी. फिर भी इस बिल को लेकर गलतफहमी पैदा की जा रही है कि MSP खत्म कर दी जाएगी जबकि यह एकदम गलत है. किसी भी सूरत में MSP को खत्म नहीं होने दिया जाएगा.

Related Posts