भारत में कोलंबो बम ब्लास्ट जैसी सजिश की तैयारी में था ISIS, पकड़े गए पति-पत्नी ने किया खुलासा

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ISIS के खुरासान मॉड्यूल (Khorasan Module) के दो संदिग्धों की बीच हुई बातचीत को इंटरसेप्ट किया है. इस बातचीत में उन्होंने 'Triacetone Triperoxide (TATP)' विस्फोटक का नाम लिया था.
ISIS was planning bomb blast in India, भारत में कोलंबो बम ब्लास्ट जैसी सजिश की तैयारी में था ISIS, पकड़े गए पति-पत्नी ने किया खुलासा

दिल्ली (Delhi) के ओखला (Okhla) से गिरफ्तार ISIS से संबंध रखने वाले संदिग्ध दंपत्ति से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल (Special Cell) ने पूछताछ की है. पूछतान के दौरान स्पेशल सेल को कई अहम जानकारियां मिली हैं. इसमें सबसे बड़ा खुलास यह हुआ कि ISIS पिछले साल कोलंबो में हुए बम धमाके (Colombo Bomb Blast) की तर्ज पर ही भारत में भी ऐसे ही धमाके की साजिश रच रहा था. इतना ही नहीं धमाके के लिए ठीक वैसा ही केमिकल भी जुटाया गया है, जैसा कोलंबो बलास्ट के लिए इस्तमाल किया गया था.

दरअसल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ISIS के खुरासान मॉड्यूल (Khorasan Module) के दो संदिग्धों की बीच हुई बातचीत को इंटरसेप्ट किया है. इस बातचीत में उन्होंने ‘Triacetone Triperoxide (TATP)’ विस्फोटक का नाम लिया था, जिसे ‘Mother of Satan’ भी कहा जाता है.

पकड़े गए इन दो संदिग्धों में इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) ने सबसे पहले पति जहानजेब सामी (Jahanjeb Sami) की वेब चैट इंटरसेप्ट की थी. IB को ये लीड दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Special Cell) ने ही दी थी. सामी ने बताया है की वो दुबई (Dubai) भी जा चुका है, लेकिन उसने पाकिस्तान (Pakistan) की नीलम वैली जाने की बात से इन्कार किया है. हालांकि एजेंसी को शक है कि वो सीरिया (Syria) भी जा चुका है.

अल-कायदा के लिए भी काम कर चुका है सामी

पूछताछ में जहानजेब सामी ने कबूल किया है कि वो अल-कायदा (Al-Qaeda) के लिए काम कर चुका है और अब ISIS के लिए कर रहा था. उसने बताया कि जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) में इंटरनेट सेवा (Internet Service) बंद होने के बाद इन्होंने अपना बेस दिल्ली (Delhi) बना लिया था, जहां से उन्होंने नौजवानों को सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए जेहाद के लिए तैयार करना शुरू कर दिया.

सोशल मीडिया (Social Media) पर जहानजेब सामी ने अपना अकाउंट दाऊद (Dawood) और अल-हिंदी (Al-Hindi) के नाम से बना रखा था. सामी युवाओं को ISIS ज्वाइन करने के लिए ब्रेनवॉश (Brain Wash) करता था.

सबसे पहले उसकी पति हिना बशीर बेग (Hina Bashir Beg) नौजवानों से सोशल मीडिया पर संपर्क करती थी और जब वो काम करने के लिए तैयार हो जाते थे, तो उन्हें सामी से मिलाती थी. सामी ने बंगलूरू से पढ़ाई की है, लिहाजा वो साउथ इंडिया (South India) के युवाओं को वहां की लोकल भाषा में आसानी से जेहाद के लिए तैयार कर लेता था.

Related Posts