ISRO चीफ के. सिवन ने कही ऐसी बात, जीत लिया सबका दिल

के सिवन ने कहा कि इसरो ऐसी जगह है जहां सभी क्षेत्रों और अलग-अलग भाषाओं वाले लोग एक साथ काम करते हैं और अपना योगदान देते हैं.
ISRO Chief Sivan, ISRO चीफ के. सिवन ने कही ऐसी बात, जीत लिया सबका दिल

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रमुख डॉक्टर के सिवन की एक विडियो क्लिपिंग सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. वीडियो में एक क्षेत्रीय समाचार चैनल के पत्रकार को सिवन से इंटरव्यू में तमिलनाडु के लोगों को खास संदेश देने को कहते सुना जा सकते है. इस पर सिवन ने सबसे पहले भारतीय होने की बात करते हुए हर किसी का दिल जीत लिया.

इसरो चीफ सिवन का ये इंटरव्यू जनवरी 2018 में लिया गया था. इस दौरान रिपोर्टर ने सवाल पूछा, “एक तमिल के रूप में आप इतनी बड़े पद पर पहुंचे हैं, तमिलनाडु के लोगों के लिए आप क्या कहना चाहते हैं?”

‘सबसे पहले एक भारतीय हूं मैं’
इसके जवाब में सिवन ने कहा, “सबसे पहले मैं एक भारतीय हूं. मैंने एक भारतीय के रूप में इसरो जॉइन किया. इसरो ऐसी जगह है जहां सभी क्षेत्रों और अलग-अलग भाषाओं वाले लोग एक साथ काम करते हैं और अपना योगदान देते हैं. मैं अपने भाइयों के प्रति आभारी हूं, जो मेरी प्रशंसा करते हैं.”

सिवन के इस जवाब की सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है. विश्वनाथ नाम के शख्स ने ट्वीट किया कि ‘मैं पहले एक भारतीय हूं, तमिल चैनल को दिए इस जवाब ने सभी का दिल जीत लिया. लेकिन मेरा एक सवाल है कि जब पीवी सिंधु भारत का गौरव बढ़ाती हैं तो उनके राज्य के लोग क्यों उनकी क्षेत्रीय पहचान पर खास जोर देते हैं.’


किसान परिवार में जन्में हैं सिवन
बता दें कि सिवन कन्याकुमारी जिले के एक गांव से एक किसान के परिवार से आते हैं. उन्होंने 1980 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की थी और 1982 में पीएसएलवी प्रोजेक्ट में इसरो के साथ काम किया.

गौरतलब है कि चंद्रयान-2 मिशन के आंशिक रूप से नाकाम होने के बावजूद इसरो और सिवन के जज्बे और काम की दुनियाभर में तारीफ हो रही है. चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर चांद की कक्षा में चक्कर लगा रहा है और तस्वीरें भेज रहा है. हालांकि विक्रम लैंडर से अभी तक इसरो का संपर्क नहीं हो पाया है.

ये भी पढे़ं-

चंद्रयान-2: सिर्फ 335 मीटर से चूक गया ‘विक्रम’, पता चली लैंडिंग फेल होने की वजह

अमेरिका ने पाकिस्तान को फिर दिया बड़ा झटका, तहरीक-ए-तालिबान के सरगना को घोषित किया आतंकी

लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के बीच कैसे होगा संपत्तियों का बंटवारा, जानिए

Related Posts