ISRO का मिशन गगनयान, फीमेल रोबो Vyommitra अंतरिक्ष से भेजेगी रिपोर्ट

व्योममित्र सभी तरह के लाइव ऑपरेशन परफॉर्म कर सकती है. यह रोबो किसी इंसान की तरह ही काम करेगी और स्पेस से ISRO को जानकारियां भेजेगी.
ISRO half humanoid Vyommitra, ISRO का मिशन गगनयान, फीमेल रोबो Vyommitra अंतरिक्ष से भेजेगी रिपोर्ट

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने अपने गगनयान मिशन के लिए व्योममित्र (Vyommitra) नाम का ह्यूमेनॉइड डेवेलप किया है. व्योममित्र एक फीमेल रोबोट है, जिसका इस्तेमाल ISRO अपनी पहली मानवरहित उड़ान की टेस्टिंग में करेगा. ISRO ने व्योममित्र की पहली झलक पेश की है.

ISRO कर रहा इंसानों को अंतरिक्ष भेजने की तैयारी

इसरो के मुताबिक व्योममित्र को एक परीक्षण के लिए यूज किया जाएगा. माना जा रहा है कि इस रोबो को गगनयान की टेस्टफ्लाइट के लिए बनाया गया है, जोकि इस साल के आखिर में हो सकती है. भारत ने 2022 तक गगनयान के जरिए अंतरिक्ष में मानव भेजने का लक्ष्‍य रखा है. यह मिशन करीब सात दिन चलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में स्‍वतंत्रता दिवस पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन में इस मिशन का ऐलान किया था. मानव को अंतरिक्ष पर भेजने और सुरक्षित वापस लाने के लिए ISRO ने व्योममित्र को डेवेलप किया है.

इंसानों की तरह ही काम करेगी व्योममित्र

व्योममित्र सभी तरह के लाइव ऑपरेशन परफॉर्म कर सकती है. यह रोबो किसी इंसान की तरह ही काम करेगी और स्पेस से ISRO को जानकारियां भेजेगी. व्योममित्र को दो भाषाओं की जानकारी है.

वहीं ISRO चीफ के सिवन ने कहा, कि साल के अंत में मानवरहित मिशन की टेस्टिंग की जाएगी. इसके लिए जनवरी के आखिर में इंडियन एयरफोर्स के चार पायलट को ट्रेनिंग के लिए रूस भेजा जाएगा.

गगनयान- अब अंतरिक्ष में होगा इंसानों का पर्यटन

इसरो का प्रयास है कि 2022 तक मिशन गगनयान पूरा हो जाए. इसके अंतर्गत तीन यात्रियों को सात दिनों के लिए अंतरिक्ष में भेजा जाएगा. इससे पहले दिसंबर 2020 और जुलाई 2021 में बिना इंसान के गगनयान का प्रक्षेपण किया जाएगा ताकि मिशन की सुरक्षा और सटीकता की जांच हो जाए. भारतीय वायुसेना 3 अंतरिक्ष यात्री इसके लिए उपलब्ध कराएगी. भारत का नंबर ऐसे मिशन के मामले में रूस, अमेरिका और चीन के बाद आएगा. मिशन पर लगभग 10,000 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें- भारतीय नौसेना के पनडुब्बी प्रोजेक्ट से क्यों बाहर हुआ अडानी ग्रुप? जानें वजह

Related Posts