पाक की नापाक हरकतों पर अंतरिक्ष से नजर रखेगा भारत, नवंबर-दिसंबर में इसरो लॉन्च करेगा 3 सैटेलाइट

यह लॉन्चिंग देश की सीमाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. इनके जरिए आसमान से सीमाओं पर नजर रखी जाएगी.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) तीन अर्थ ऑब्जर्वेशन या सर्विलांस सैटेलाइट लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है. पहली सैटेलाइट 25 नवंबर को और बाकी की दो दिसंबर में लॉन्च की जाएंगी. इसरो के मुताबिक कार्टोसेट-3 अंतरिक्ष में 509 किलोमीटर दूर 97.5 डिग्री के झुकाव के साथ कक्षा में स्थापित होगा.

इसरो के मुताबिक, 25 नवंबर को सुबह 9 बजकर 28 मिनट पर पीएसएलवी सी-47 को श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया जाएगा जो अपने साथ थर्ड जनरेशन अर्थ इमेजिंग सैटेलाइट कार्टोसैट-3 और अमेरिका के 13 कमर्शियल सैटेलाइट लेकर जाएगा.

इसके जरिए देश की सीमाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इनके जरिए आसमान से सीमाओं पर नजर रखी जाएगी. इन तीन प्राथमिक उपग्रहों के अलावा, तीन पीएसएलवी रॉकेट दो दर्जन से ज्यादा विदेशी और नैनो और माइक्रो सैटेलाइट को लेकर जाएंगे.

इससे पहले एजेंसी ने 22 मई को सर्विलांस सैटलाइट रीसैट-2बी और एक अप्रैल को एमिसैट (इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट) को लॉन्च किया था. एमिसैट डीआरडीओ की दुश्मनों के रडार पर नजर रखने में मदद करता है. इस ऑपरेशनल सैटेलाइट को लॉन्च करने में छह महीने की देरी चंद्रयान-2 की वजह से हुई. यह इसरो के इतिहास में पहली बार हो कि उसने एक साल में श्रीहरिकोटा से जो सैटेलाइट लॉन्च की हैं वह सभी सैन्य उद्देश्य के लिए हैं.

ये भी पढ़ें-

‘NDA से निकालने वाले तुम कौन’ बिफरी शिवसेना ने मोहम्मद गोरी से की बीजेपी की तुलना

MP: कॉलेज का नाम महात्मा गांधी रखने पर कांग्रेस के मंत्री ने दी धमकी, बीजेपी MLA का आरोप