अब वक्त आ गया है जब बॉलीवुड को अपनी ही फिल्में देख लेनी चाहिए

रवि किशन (Ravi Kishan) भी बॉलीवुड के उसी गलियारे के हिस्सा हैं. जहां कभी जया बच्चन की तूती बोलती रही है और मामला जब संसद तक उठा तो फिल्म इंडस्ट्री पर नशे का दाग लग गया. ये बात जया बच्चन के दिल में चुभ गई.
Bollywood drug connection in parliament monsoon session, अब वक्त आ गया है जब बॉलीवुड को अपनी ही फिल्में देख लेनी चाहिए

लोकतंत्र के मंदिर यानी संसद में एक आवाज उठी है, जिसकी खूब चर्चा हो रही है. ये आवाज गोरखपुर से BJP सांसद रविकिशन (Ravi Kishan) की है, जिसमें ड्रग्स को लेकर फिक्र थी. नशे को लेकर फिक्र थी और बॉलीवुड पर लगते दाग की फिक्र थी. दरअसल बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की मिस्ट्री पर CBI ने जो जांच शुरू की थी, वो अब ड्रग सिंडिकेट तक आ पहुंची है. लेकिन अब खतरा ये है कि कहीं ये गंभीर मामला भी मजाक बनकर ना रह जाए.

अब वक्त आ चुका है जब बॉलीवुड को अपनी ही फिल्में देख लेनी चाहिए. द शौकीन्स की तरह ऐसी दर्जनों हिंदी फिल्में हैं जो नशे का मायाजाल दिखाती हैं. घूम फिरकर ही सही जब बॉलीवुड को भी आइने में नशा ही नशा नजर आने लगा तो संसद तक पहुंचे प्रतिनिधियों का भी सिर चकरा उठा.

बॉलीवुड को बदनाम करने की कोशिश

रवि किशन भी बॉलीवुड के उसी गलियारे के हिस्सा हैं. जहां कभी जया बच्चन की तूती बोलती रही है और मामला जब संसद तक उठा तो फिल्म इंडस्ट्री पर नशे का दाग लग गया. ये बात जया बच्चन के दिल में चुभ गई. सासंद और फिल्म अभिनेत्री जया बच्चन (Jaya Bachchan) ने आरोप लगाया है कि फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. जया बच्चन ने फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने की कथित साजिश को लेकर राज्यसभा में शून्यकाल नोटिस दिया. साथ ही जया बच्चन ने सरकार से अपील की कि वह फिल्म इंडस्ट्री को सपोर्ट करें.

कंगना ने साधा निशाना

जया बच्चन भी जानती हैं कि पूरे देश को फैशन इस रुपहले पर्दे ने ही दिखाया है, चाहे वो नशे का फैशन ही क्यों ना हो और इसी दुनिया की एक एक्ट्रेस ये सवाल उठा रही हैं कि जब दाग नजर आ गया है तो उसे धोने की जरूरत है, ना कि छिपाने की. फिल्म एक्ट्रेस कंगना रानौत ने अपने ट्वीटर में पूछा है कि ”जया जी, क्या आप तब भी यही कहतीं, अगर श्वेता और अभिषेक बच्चन के साथ ये ही हुआ होता?”

ड्रग माफिया के इंटरनेशनल तार

दरअसल ये मामला ड्रग्स का नहीं बल्कि रिया चक्रवर्ती का है, जिन पर ड्रग सिंडिकेट में शामिल होने का आरोप लगा है. एनसीबी ने इस सिंडिकेट का भंडाफोड़ करने में जान झोंक रखी है. देश भर में हुए तमाम शोध बताते हैं कि ये एक ऐसा सिंडिकेट है, जिसके इंटरनेशनल तार हैं. भारत का शत्रु देश पाकिस्तान बड़े पैमाने पर हेरोइन, चरस, ब्राउन शुगर सप्लाई करता है, जिसके जरिए ISI की ओर से भारत में घुसपैठ कराए जाने वाले आतंकवादी बनते हैं. ड्रग्स की सप्लाई का दूसरा रास्ता नेपाल और म्यांमार जैसे देशों से होकर गुजरता है और इसके अलावा ड्रग्स के कारोबार का सबसे बड़ा रास्ता समुद्र है.

Related Posts