‘जय श्री राम के जवाब में अल्‍लाह हू अकबर’, संसद में खूब चली नारों की जंग

इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी के एक सांसद ने तो वंदे मातरम को लेकर बड़ा बयान दे दिया कि वंदे मातरम इस्लाम के खिलाफ है.

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा का पहला सत्र सोमवार को शुरू हुआ. इस सत्र के शुरू होने के साथ ही सासंदों ने शपथ ली, जो कि सत्र के दूसरे दिन भी जारी रहा. बजट सत्र के दूसरे दिन शपथ ग्रहण के समय ऐसी चीजें हुईं, जो कि अब चर्चा का विषय बन गई हैं. हम बात कर रहे हैं संसद में शपथ ग्रहण के समय हुई नारेबाजी की.

राजनीतिक पार्टियों के बीच संसद में नारों की खूब जंग हुई. एक से एक राजनेताओं ने संसद में अपने-अपने नारे लगाए. एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने जय श्रीराम, जय हिंद और मंदिर वहीं बनवाएंगे जैसे नारे लगाए तो वहीं दूसरी और तृणमूल कांग्रेस ने जय काली और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अल्लाह-हू-अकबर का नारा लगाया.

इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी के एक सांसद ने तो वंदे मातरम को लेकर बड़ा बयान दे दिया कि वंदे मातरम इस्लाम के खिलाफ है. संसद में दूसरे दिन सत्ताधारी पार्टी और विपक्ष के बीच खूब नारेबाजी हुईं.

बीजेपी सांसद साक्षी महाराज

उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने शपथ लेने के बाद राम मंदिर मुद्दे को गर्मजोशी के साथ उठा दिया. उन्होंने अपने शपथ के साथ ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’ का नारा दे डाला.

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी शपथ लेने के लिए आए तो सत्ताधारी के सांसदों सदन में जय श्री राम, भारत माता की जय और वंदे मातरम् के नारे लगाने लगे. यह सब सुनने और देखने के बाद ओवैशी ने अपने दोनों हाथ उठाते हुए इशारा करने लगे कि और जोर से बोलें. इस दौरान लगाता सत्ताधारी नेता नारेबाजी करते रहे. वहीं शपथ खत्म करने के बाद हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने जय भीम, जय मीम, तकबीर अल्लाह हु अकबर और जय हिंद का नारा लगा डाला.

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क

ओवैसी को देखकर की गई नारेबाजी का मामला अभी थमा ही नहीं था कि सत्ताधारी पक्ष समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क को देखते ही वंदे मातरम् के नारे लगाने लगे. शफीकुर्रहमान बर्क ने अपनी शपथ को पूरा किया और फिर आखिर में जाते-जाते कह गए कि वंदे मातरम् कहना इस्लाम के खिलाफ है.

शपथ ग्रहण के बाद शफीकुर्रहमान बर्क ने भारत का संविधान जिंदाबाद का नारा लगया और फिर कहा कि वे वंदे मातरम् कभी नहीं कहेंगे. उनका कहना था कि जहां तक वंदे मातरम् का ताल्लुक है, वह इस्लाम के खिलाफ है और हम इसे नहीं कह सकते. इसके बाद बर्क का जमकर विरोध किया गया और उनके इस बयान को लेकर उनकी काफी आलोचना की गई.

टीएमसी सांसदों की प्रतिक्रिया

पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच किस कदर विवाद बढ़ रहा है, यह किसी से छिपा नहीं है. आए दिन राज्य से हिंसा की खबरें सामने आती हैं, जिनके लिए दोनों ही पार्टियां एक दूसरे को जिम्मेदार ठहराती हैं. दोनों पार्टियों के बीच विवाद संसद में भी देखने को मिला, जब टीएमसी सांसदों ने शपथ लेना शुरू किया.

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी शपथ लेने आए तो सत्ताधारी पार्टी जय श्री राम के नारे लगाने लगी. इसपर अभिषेक बनर्जी ने कहा कि आपका बहुत-बहुत शुक्रिया.

वहीं जब टीएमसी के अन्य सांसद काकोली घोष शपथ लेने आई तो उनके समय पर भी खूब जय श्री राम की नारेबाजी की गई. सत्ताधारी पार्टी को इसका जवाब देते हुए काकोली घोष ने जय मां काली का नारा लगा डाला.

 

ये भी पढ़ें-     पीएम मोदी ने सभी 5 सचिवों संग की बैठक, बजट समेत सरकार के 100 दिन के एजेंडा पर हुई चर्चा

ममता बनर्जी नहीं होंगी पीएम मोदी की “वन नेशन, वन इलेक्शन” वाली सर्वदलीय बैठक में शामिल