Jamia Firing : केस क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर, पढ़ें अब तक का Latest Update

गोली चलने के तुरंत बाद मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उस शख्स को अपने काबू में ले लिया. गोली चलने से एक छात्र को चोट पहुंची थी, उसे तुरंत होली फैमिली अस्पताल ले जाया गया.
Jamia Firing latest update, Jamia Firing : केस क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर, पढ़ें अब तक का Latest Update

जामिया मिलिया इस्लामिया के गेट नंबर 17 से राजघाट तक के लिए गुरुवार सुबह एक लॉन्ग मार्च निकाला जाना था. दिल्ली पुलिस के मुताबिक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने में सक्षम न होने के चलते उन्होंने इस मार्च को इजाजत नहीं दी थी. हालांकि फिर भी मार्च निकाला गया. लगभग 1:30 बजे जब मार्च में कई लोग शामिल हो रहे थे, तभी एक शख्स भीड़ से निकलकर आता है और हवा में तमंचा लहराने लगता है. कोई कुछ पता लगा पाता, तब तक उस शख्स ने मार्च कर रहे छात्रों पर गोली चला दी.

गोली चलाने वाले का मामला क्राइम ब्रांच में हुआ ट्रांसफर

गोली चलने के तुरंत बाद मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उस शख्स को अपने काबू में ले लिया. गोली चलने से एक छात्र को चोट पहुंची थी, उसे तुरंत होली फैमिली अस्पताल ले जाया गया. घायल होने वाले शख्स की पहचान शादाब फारुख के रूप में हुए जो कि जामिया यूनिवर्सिटी का छात्र है. गोली चलाने वाले की पहचान रामभक्त गोपाल के तौर पर हुई है, जिसके खिलाफ पुलिस ने IPC की धारा 307 और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है. बाद में ये मामला क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया.

जामिया के पूर्व छात्रों ने पुलिस से की शिकायत

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता अनिल मित्तल ने बताया, “आरोपी को हिरासत में मौके पर ही घटना के तुरंत बाद ले लिया गया था. हमलावर ने जिस हथियार का गोली चलाने में इस्तेमाल किया, उसे भी जब्त कर लिया गया.” इसी बीच जामिया के पूर्व छात्रों का एक संगठन भी न्यू फ्रेंड्स कालोनी पुलिस स्टेशन पहुंचा और जामिया में गोलीबारी करने वाले शख्स के खिलाफ मामला दर्ज कराने की अपील करने लगे. उन्होंने दिल्ली पुलिस को एक पत्र सौंपा जिसमें आरोपी रामभक्त गोपाल और हिंसा भड़काने के आरोप में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा, सांसद अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की अपील की.

कांग्रेस ने कहा, बीजेपी बना रही है ‘गोडसे फ्रैंड क्लब’

इस मामले पर दिनभर राजनीति भी होती रही. कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया गया, “देश भर के घृणित अपराधों में भारी वृद्धि गोडसे फैन क्लब का प्रतिबिंब है, जो इस सरकार ने अपनी जहरीली राजनीति और नाथूराम गोडसे की मूर्ति पूजा के माध्यम से बनाई है.” इस दौरान कांग्रेस ने ‘बीजेपी का गोडसे राज’ हैश टैग का प्रयोग भी किया. प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, “जिस नफरत ने महात्मा गांधी की हत्या की, वह देश पर शासन कर रही है और जामिया में जो गोलीबारी हुई है वह दुखद है, लेकिन यह नफरत के माहौल का नतीजा है जो पिछले एक महीने से बन रहा है.”

पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर छात्र कर रहे हैं प्रदर्शन

हालांकि गोलीबारी के बाद भी जामिया में नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. कई छात्र जामिया में हुई गोलीबारी को लेकर ITO स्थित दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर पहुंच गए है. इस प्रदर्शन के चलते ITO में ट्राफिक जाम हो गया है.

ये भी पढ़ें: आजादी के नारे…चंदन का बदला और गोपाल की बंदूक…जामिया गोलीकांड की पूरी कहानी

Related Posts