‘हम PoK का मसला भी सुलझा लेंगे बेटा’, कश्‍मीर पर शाहिद अफरीदी को गौतम गंभीर का करारा जवाब

पाकिस्‍तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी को बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने करारा जवाब दिया है.

नई दिल्‍ली: जम्‍मू-कश्‍मीर पर संसद में पेश प्रस्‍तावित कानून पर पड़ोसी मुल्‍क में खासी हलचल मची है. ट्विटर पर भी इसकी झलक देखने को मिल रही है. पाकिस्‍तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने इस मुद्दे पर भड़काऊ ट्वीट किया तो भारतीय यूजर्स ने उन्‍हें घेर लिया. पूर्व क्रिकेटर व बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने अफरीदी को करारा जवाब दिया है.

गंभीर ने लिखा, “शाहिद अफरीदी बिल्‍कुल ठीक कह रहे हैं. ‘बेवजह आक्रामकता’ है, ‘मानवता के खिलाफ अपराध’ हैं. यह मुद्दा उठाने के लिए उनकी तारीफ होनी चाहिए. सिर्फ एक बात जो वो लिखना भूल गए कि यह सब ‘पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर’ में हो रहा है. चिंता न करें, हम उसे भी सुलझा लेंगे बेटा.”

अफरीदी ने ट्वीट में लिखा था, “UN रेजोल्‍यूशन के हिसाब से कश्‍मीरियों को उनके वाज़‍िब अधिकार दिए जाने चाहिए. हम सब की तरफ स्‍वतंत्रता का अधिकार. संयुक्‍त राष्‍ट्र क्‍यों बना था और वो सो क्‍यों रहा है? कश्‍मीर में मानवता पर हो रहे अपराधों का संज्ञान लिया जाना चाहिए. अमेरिकी राष्‍ट्रपति को मध्‍यस्‍थता की अपनी भूमिका निभानी चाहिए.”

भारत सरकार ने सोमवार को संविधान के अनुच्छेद 370 के उन प्रावधानों को समाप्त कर दिया, जो जम्मू एवं कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करता था. अब जम्मू एवं कश्मीर राज्य न रहकर दो केंद्र शासित प्रदेशों में बंट जाएगा, जिसमें से एक जम्मू एवं कश्मीर और दूसरा लद्दाख होगा. जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा होगी, लेकिन लद्दाख में विधानसभा नहीं होगी.

अनुच्‍छेद-370 में बदलाव पर पाकिस्‍तान की बौखलाहट साफ नजर आ रही है. PAK प्रधानमंत्री इमरान खान ने मलेशिया और तुर्की के राष्ट्राध्यक्षों से फोन पर बात की. उन्‍होंने कश्मीर में अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के भारत के इस कदम को अवैध करार दिया और कहा कि इससे क्षेत्र की शांति नष्ट हो जाएगी.

ये भी पढ़ें

फंस गई कांग्रेस, पूछा – UN की मॉनिटरिंग है तो कश्मीर अंदरूनी मसला कैसे?

आर्टिकल 370 में संशोधन पर राहुल, प्रियंका की चुप्‍पी के पीछे है ये वजह!