गुमराह करने को कार पर लगाया बाइक का नंबर, DGP की जुबानी… जानिए कैसे मिली पुलवामा में सफलता

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के डीजीपी ने बताया, "सुरक्षाबलों को गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक का नंबर इस्तेमाल किया गया था. हमले को नाकाम करना सुरक्षाबलों की एक बड़ी कामयाबी है."
Jammu and Kashmir DGP, गुमराह करने को कार पर लगाया बाइक का नंबर, DGP की जुबानी… जानिए कैसे मिली पुलवामा में सफलता

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के डीजीपी दिलबाग सिंह (DGP Dilbag Singh) से टीवी9 भारतवर्ष के संवाददाता अंकित भट्ट ने गुरुवार को खास बातचीत की. इस दौरान डीजीपी दिलबाग ने पुलवामा (Pulwama) में आज नाकाम किए गए बड़े आंतकी हमले की साजिश को लेकर विस्तार से जानकारी दी. साथ ही उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन इन दिनों घाटी में बड़े हमले की ताक में हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा, “आज पुलवामा जैसे हमले की साजिश को नाकाम कर दिया गया है. हिजबुल मुजाहिद्दिन, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा इस हमले की तैयारी कर रहे थे.”

उन्होंने बताया कि बड़ी मात्रा में IED को डिफ्यूज किया गया है. कार में 50 किलो विस्फोटक छुपाया गया था. इस हमले को नाकाम करने का श्रेय सुरक्षबलों और पुलवामा पुलिस को जाता है जिसने इसकी सूचना दी थी.

‘गुमराह करने के लिए कार पर बाइक का नंबर’

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी ने बताया, “सुरक्षाबलों को गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक का नंबर इस्तेमाल किया गया था. हमले को नाकाम करना सुरक्षाबलों की एक बड़ी कामयाबी है.”

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एजेंसियां कोई बड़ा आतंकी हमला करने के लिए इन दिनों काफी सक्रिय हैं. इसे देखते हुए जम्मू-कश्मीर में सिक्योरिटी को एलर्ट पर रखा गया है. रियाजू नाइकू के मारे जाने के बाद से ही वो किसी बड़े हमले की फिराक में हैं. हमें अपनी अलर्टनेस की वजह से आज सफलता मिली है.

दिलबाग सिंह ने कहा, “पाकिस्तान और आतंकियों की ओर से सोशल मीडिया पर झूठा प्रोपेगेंडा फैलाया जा रहा है. हम इसका जवाब दे रहे हैं. प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए कराची, तुर्की और अरब देशों के कुछ फर्जी अकाउंट्स का इस्तेमाल हो रहा है.”

बम निरोधक दस्ते ने विस्फोटक को किया डिफ्यूज

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जैसी त्रासदी को सुरक्षाबलों ने एक आईईडी से लदी कार को जब्त कर के रोक दिया. दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में ही विस्फोटक से भरी कार को सुरक्षा बलों के काफिले या रक्षा प्रतिष्ठान को निशाना बनाने के लिए रणनीतिक स्थान पर रखा गया था.

कार के भीतर एक नीले ड्रम में विस्फोटक को छिपा कर रखा गया था. बॉम्ब डिस्पोजल स्क्वायड गुरुवार सुबह मौके पर पहुंची और आस-पास से लोगों को दूर जाने को कहा. इसके बाद बम निरोधक दस्ते ने फिर विस्फोटक को डिफ्यूज करने के बजाय वाहन को उड़ा दिया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts