जम्मू-कश्मीर: NIA को मिली बड़ी सफलता, पुलवामा हमले के आतंकियों का मददगार गिरफ्तार

NIA ने जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के एक ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) को गिरफ्तार किया है. इसकी पहचान शाकिर बशीर (22) के रूप में हुई है. शाकिर पुलवामा के काकापोरा का रहने वाला है और फर्नीचर की दुकान चलाता है.
Jammu and Kashmir NIA arrested JeM OWG, जम्मू-कश्मीर: NIA को मिली बड़ी सफलता, पुलवामा हमले के आतंकियों का मददगार गिरफ्तार

पुलवामा में CRPF की बस पर हुए हमले के मामले में NIA को बड़ी सफलता मिली है. इस मामले में NIA ने गुरुवार को शाकिर बशीर मागरे नाम के एक ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) को गिरफ्तार किया है. शाकिर बशीर ने पुलवामा हमले से पहले सुसाइड बॉम्बर आदिल अहमद डार को शरण और लॉजिस्टिक सहित कई दूसरी सहयाता प्रदान की थी.

जानकारी के मुताबिक NIA ने जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के एक ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) को गिरफ्तार किया है. इसकी पहचान शाकिर बशीर (22) के रूप में हुई है. शाकिर पुलवामा के काकापोरा का रहने वाला है और फर्नीचर की दुकान चलाता है. शुरुआती जांच में खुलासा हुआ कि कई मौकों पर उसने पुलवामा हमले में शामिल JeM आतंकवादियों को हथियार, गोला-बारूद, नकदी और विस्फोटक इकट्ठा कर उन तक पहुंचाया था.

OGW शाकिर बशीर मागरे को आज जम्मू में एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया गया और उसे पूछताछ के लिए 15 दिन की NIA हिरासत में भेज दिया गया है.

2018 में आदिल अहमद डार से मिला

जांच में सामने आया कि शाकिर बशीर 2018 में पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक के जरिए आदिल अहमद डार से मिला था. शाकिर ने आगे खुलासा किया कि उसने 2018 के आखिर से फरवरी 2019 तक आदिल अहमद डार और पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक को उसके घर में शरण दी थी और IED तैयार करने में उनकी सहायता भी की थी. इतना ही नहीं हमले में इस्तेमाल की गई मारुति ईको कार को मॉडिफाई करने और उसमें IED फिट करने में भी शाकिर बशीर शामिल था.

मालूम हो कि पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को जम्मू से श्रीनगर की ओर बढ़ रहे CRPF के काफिले में जैश आतंकी आदिल अहमद डार IED से लदी कार लेकर जा घुसा था. इस हमले में CRPF के 40 जवानों की जान चली गई और कई अन्य घायल हो गए थे.

यो भी पढ़ें:

जम्मू कश्मीर : सेना ने नाकाम की घुसपैठ की कोशिश, पुलिस ने पकड़ा लश्कर का आतंकी

Related Posts