आर्मी भर्ती में पहुंचे कश्मीरी युवकों ने कहा- पाक को देंगे मुंहतोड़ जवाब, जरूरत पड़ी तो हंसते-हंसते दे देंगे जान

आर्मी भर्ती प्रक्रिया तीन सितंबर से लेकर नौ सितंबर तक लगातार चलेगी जिसमें जिला रियासी के साथ-साथ पुंछ, राजोरी, उधमपुर,डोडा, किश्तवाड़, रामबन जिले के युवा शामिल होंगे.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में धारा 370 अनुच्छेद 35a हटने के बाद पहली आर्मी भर्ती का आयोजन किया गया. इस भर्ती में सैकड़ों बच्चों ने हिस्सा लिया. ये भर्ती प्रक्रिया उस जगह चल रही है जहां कभी आतंक की फैक्ट्री लगती थी.

आर्मी भर्ती प्रक्रिया तीन सितंबर से लेकर नौ सितंबर तक लगातार चलेगी जिसमें जिला रियासी के साथ-साथ पुंछ, राजोरी, उधमपुर,डोडा, किश्तवाड़, रामबन जिले के युवा शामिल होंगे. इसके अलावा अगर बात की जाए कुल संख्या की तो 29 हजार के करीब युवाओं नामांकन भरा हुआ है, प्रतिदिन अलग-अलग जिलों से युवाओं को बुलाया जाएगा.

आज भर्ती प्रक्रिया का पहला दिन था तो युवाओं में पहले दिन काफी उत्साह देखा गया. घाटी के युवाओं में सेना की भर्ती को लेकर और सेना की वर्दी पहनने का जज्बा देखा गया. भारत माता की जय वंदे मातरम के नारे लगाते हुए युवाओं को देखा गया.

सेना की भर्ती में शामिल होने आए जिला रामबन और किश्तवाड़ के युवाओं ने कहा कि हम पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देंगे और अगर देश के लिए जान देने की भी जरूरत पड़ी तो वह भी हंसते हुए जान दे देंगे. जिसे देखकर साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश के प्रति युवाओं में काफी उत्साह है. केंद्र सरकार ने जिस तरह से जम्मू कश्मीर में बेहतर रोजगार युवाओं को मुहैया करवाने का वादा किया था वह वादा पूरा होता हुआ जरूर दिख रहा है.