झारखंड चुनाव: दूसरे चरण के लिए प्रचार थमा

इन विधानसभा क्षेत्रों में 14 सीट कोल्हान संभाग और छह अन्य सीट छोटानागपुर संभाग में है. अगर 2014 के नतीजे पर गौर करें तो कोल्हान झामुमो के लिए मजबूत गढ़ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर के बावजूद झामुमो ने यहां आठ सीटों पर कब्जा किया था.

रांची: पांच चरणों में होने वाले झारखंड चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के लिए प्रचार का दौर गुरुवार को थम गया. यहां दूसरे चरण का चुनाव शनिवार को होने वाला है.

दूसरे चरण में 20 सीटों में से 18 सीटों के लिए मतदान सुबह 7 बजे से अपराह्न् 3 बजे तक होगा. वहीं दो सीटों पूर्वी जमशेदपुर और पश्चिमी जमशेदपुर में चुनाव सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक होगा. इन 20 सीटों में से 16 अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं.

इस सीटों के लिए कुल 260 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनमें से 29 महिलाएं हैं. सबसे ज्यादा 20-20 उम्मीदवार पूर्वी जमशेदपुर और पश्चिमी जमशेदपुर सीट से हैं, जबकि सेराईकेला में सबसे कम, सात उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

दूसरे चरण का चुनाव राज्य के कद्दावर नेताओं के भाग्य का फैसला करेगा. इन विधानसभा क्षेत्रों में 14 सीट कोल्हान संभाग और छह अन्य सीट छोटानागपुर संभाग में है. अगर 2014 के नतीजे पर गौर करें तो कोल्हान झामुमो के लिए मजबूत गढ़ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर के बावजूद झामुमो ने यहां आठ सीटों पर कब्जा किया था.

निगाहें पूर्वी जमशेदपुर सीट पर खास तौर से रहेंगी जहां से मुख्यमंत्री रघुबर दास चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ उनके पुराने कैबिनेट सहयोगी सरयू राय और कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ चुनाव लड़ रहे हैं.

इस चरण में होने वाले मतदान की 20 सीटें नक्सल प्रभावित क्षेत्र में हैं. चुनाव लड़ने वाले प्रमुख उम्मीदवारों में झारखंड विधानसभा स्पीकर दिनेश उरांव, शहरी विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, जल संसाधन मंत्री रामचंद्र साहिस, पूर्व कैबिनेट मंत्री सरयू राय और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा शामिल हैं.

जेल में बंद नक्सली कमांडर कुंदन पहान, तमार विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं.