जम्‍मू-कश्‍मीर की स्‍कूली किताबों में जुड़ा नया चैप्‍टर, बच्‍चे पढ़ेंगे कैसे खत्‍म हुआ आर्टिकल 370

कक्षा 6 से 10 तक की किताबों में जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद 370 को खत्‍म करने के बारे में बताया जाएगा.
J&K Reorganisation Act, जम्‍मू-कश्‍मीर की स्‍कूली किताबों में जुड़ा नया चैप्‍टर, बच्‍चे पढ़ेंगे कैसे खत्‍म हुआ आर्टिकल 370

जम्‍मू और कश्‍मीर के स्‍कूलों में यह पढ़ाया जाएगा कि कैसे वे केंद्रशासित प्रदेश बने. बोर्ड ऑफ स्‍कूल एजुकेशन ने नए सेशन से J&K Reorganisation Act, 2019 पर चैप्‍टर जोड़ा है. कक्षा 6 से 10 तक की किताबों में जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद 370 को खत्‍म करने के बारे में बताया जाएगा.

बोर्ड की चेयरपर्सन वीना पंडिता ने कहा, “हमने नए सेशन की टेक्‍स्‍टबुक्‍स में J&K Reorganisation Act पर एक एडिशनल चैप्‍टर जोड़ा है. यह टेक्‍स्‍टबुक के एनुअल अपडेशन का हिस्‍सा है. इस साल करीब 20 टाइटल्‍स अपडेट किए गए हैं.”

कक्षा 8 की सोशल साइंस की किताब में, J&K के उपराज्‍यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू और लद्दाख के उपराज्‍यपाल आरके माथुर की तस्‍वीरें, दोनों केंद्रशासित प्रदेशों के प्रशासनिक स्‍ट्रक्‍चर को समझाते हुए छापी गई हैं.

कक्षा 10 की किताब में नए कानून के प्रावधाान समझाए गए हैं. इसके अलावा अनुच्‍छेद 35A के तहत राज्‍य को पहले मिली गारंटी और इंस्‍ट्रूमेंट ऑफ एक्‍सेशन के बारे में डिटेल्‍स दी गई हैं.

बोर्ड की एकेडमिक एक्‍सपर्ट कमेटी ने राष्‍ट्रपति के एक्‍ट को मंजूरी देने के कुछ समय बाद ही किताब में बदलावों को मंजूरी दे दी थी. J&K बोर्ड के स्‍कूलों का सेशन नवंबर-दिसंबर के बीच चलता है जिसमें तीन महीने छुट्टियां रहती हैं. नई किताबें मार्च से उपलब्‍ध होंगी.

ये भी पढ़ें

अपनी ही शादी में नहीं पहुंच सका कश्‍मीर में तैनात ये जवान

Related Posts