JNU हिंसा : दोनों व्‍हाट्सएप ग्रुप मेंबर्स के फोन होंगे जब्‍त, सारा डेटा पुलिस को देंगे WhatsApp, Google

कोर्ट ने व्हाट्सएप और गूगल को आदेश देते हुए कहा कि 5 जनवरी को JNU में हिंसा से संबंधित सोशल मीडिया का डेटा संरक्षित कर जांच के लिए उपलब्ध कराए.

JNU हिंसा मामले में सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को अहम निर्देश दिए हैं. 5 जनवरी को हुई हिंसा के दौरान चर्चा में आए दो व्हाटस ग्रुप 1-Unity against Left और 2-Friends of RSS में शामिल लोगों की पहचान कर फोन जब्त करने को कहा गया है.

इसके अलावा, कोर्ट ने व्हाट्सएप और गूगल को आदेश देते हुए कहा कि 5 जनवरी को JNU में हिंसा से संबंधित सोशल मीडिया का डेटा संरक्षित कर जांच के लिए उपलब्ध कराए.

दरअसल, JNU के तीन प्रोफेसर्स ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर 5 जनवरी को JNU में हिंसा के दौरान का डेटा संरक्षित करने की मांग की है. कोर्ट ने याचिका का निपटारा करते ही व्हाटस एप, गूगल और दिल्ली पुलिस को निर्देश जारी किए. तीनों प्रोफेसर्स के नाम सुराजीत मजूमदार, शुक्ला सावंत और अतुल सूद हैं.

JNU हिंसा मामले में दिल्‍ली पुलिस अब स्‍टूडेंट्स से पूछताछ कर रही है.

ये भी पढ़ें

JNU हिंसा : चेक शर्ट वाली लड़की निकली DU स्‍टूडेंट, आज तीन छात्रों से होगी पूछताछ

Exclusive : JNU हिंसा पर बोले मनिंदरजीत सिंह बिट्टा- आजादी चाहने वालों की ऐसी की तैसी