जेएनयू हिंसा: मनोज तिवारी बोले- जांच रिपोर्ट से लेफ्ट का असली चेहरा सामने आया

भाजपा सांसद और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अपने वीडियो बयान में कहा, "शुक्रवार को जेएनयू केस में जांच रिपोर्ट आई है, एक बार फिर से लेफ्ट का असली चेहरा उजागर हो गया है.''
Left Behind JNU Violence, जेएनयू हिंसा: मनोज तिवारी बोले- जांच रिपोर्ट से लेफ्ट का असली चेहरा सामने आया

नई दिल्ली: जेएनयू हिंसा के मामले में पुलिस की जांच रिपोर्ट सामने आने पर भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने लेफ्ट, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा है कि जब भी चुनाव आता है, इन संगठनों के लोग अशांति फैलाने की कोशिश करते हैं. भाजपा सांसद और प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अपने वीडियो बयान में कहा, “शक्रवार को जेएनयू केस में एक जांच रिपोर्ट आई है, एक बार फिर से लेफ्ट का असली चेहरा उजागर हो गया है. जब भी चुनाव आता है ये लोग ऐसी घटना करते हैं जिससे युवाओं को भ्रमित किया जा सके, जिन्हें जनता ने नकार दिया, वे लोग एक गैंग बनाकर छात्रों को भ्रमित करने की कोशिश करते हैं. जांच रिपोर्ट बताने को काफी है कि आम आदमी पार्टी, कांग्रेस जैसी पार्टियां क्यों उनके समर्थन में आ जाती हैं, देश और दिल्ली की जनता देख रही है.”

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने वीडियो फुटेज व गवाहों आदि से बातचीत के आधार पर कुल नौ छात्रों की शिनाख्त कर उनका हाथ हिंसा के पीछे बताया है. इन विद्यार्थियों में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष, डोलन, चुनचुन कुमार, योगेंद्र भारद्वाज, पंकज मिश्रा, प्रिया रंजन, विकास पटेल, सुचेता तालुकदार, वसकर विजय शामिल हैं. इन्हें नोटिस जारी कर पुलिस ने जवाब मांगा है.

Related Posts