सिंधिया के स्वागत में टूटे दरवाजे, कहा- ये कार्यकर्ताओं का उत्साह, CM से मुलाकात पर दिया ये जवाब

सिंधिया ने कहा कि वह कभी कुर्सी के पीछे नहीं भागे. पिछले 18 साल में उन्होंने केवल जनसेवा के माध्यम से राजनीति की है. ना वो पिछले दिसंबर में कुर्सी के पीछे थे और ना आज किसी कुर्सी के पीछे हैं.

भोपाल पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत में पहुंचे कार्यकर्ताओं में धक्का-मुक्की हुई. जिसकी वजह से तीसरी मंजिल का दरवाजा टूट गया. इस मामले में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ये भी कार्यकर्ताओं का एक उत्साह है

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि वह कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने पहुंचे हैं. जब भी वह भोपाल आते हैं, कार्यकर्ताओं से मिलते हैं.

सिंधिया ने कहा कि वह कभी कुर्सी के पीछे नहीं भागे. पिछले 18 साल में उन्होंने केवल जनसेवा के माध्यम से राजनीति की है. ना वो पिछले दिसंबर में कुर्सी के पीछे थे और ना आज किसी कुर्सी के पीछे हैं. सिंधिया ने ये बात उस सवाल के जवाब में कही जिसमें उनसे पूछा गया था कि क्या वह राज्यसभा और प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी के पीछे हैं.

सिंधिया ने दिग्विजय के जाकिर नायक वाले बयान पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. साथ ही कश्मीर के डीएसपी देवेंद्र सिंह वाले मामले में सिंधिया ने कहा यह गंभीर विषय है कि देश की आंतरिक सुरक्षा के साथ इतना बड़ा खिलवाड़ हुआ है.

कमलनाथ से मुलाकात पर सिंधिया ने कहा की आज आप घंटे गिन रहे हैं कि मैं सीएम से नहीं मिला. जब मैं कमलनाथ जी से मिलता हूं तब मीडिया को सोचना चाहिए कि वो कैसे नहीं पता चला.

तानाजी फिल्म को टैक्स फ्री करने के सवाल पर सिंधिया ने कहा कि सामाजिक और ऐतिहासिक विषयों पर बनने वाली फिल्में, चाहे उनका जो भी नाम हो उन्हें आगे बढ़ाए जाने की जरूरत है.

Related Posts