अब कमल हासन ने छेड़ा ‘हिंदू आतंक’ का मुद्दा, नाथूराम गोडसे को बताया पहला हिंदू अतिवादी

लोकसभा चुनाव में पहले ही हिंदू आतंकवाद पर बहस जारी है. अब कमल हासन ने भी वही राग छेड़कर बीजेपी को हमलावर होने का मौका दे दिया है.
nathuram godse, अब कमल हासन ने छेड़ा ‘हिंदू आतंक’ का मुद्दा, नाथूराम गोडसे को बताया पहला हिंदू अतिवादी

कमल हासन के एक बयान ने लोकसभा चुनाव के बीच खलबली पैदा कर दी है. तमिलनाडु के अरावाकुरूची में चुनाव प्रचार के दौरान हासन ने कहा कि भारत का पहला अतिवादी हिंदू ही था. उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत का पहला अतिवादी हिंदू था जिसका नाम नाथूराम गोड़से था.

30 जनवरी 1948 को नाथूराम ने दिल्ली में महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. कमल हासन ने अपना बयान तमिल में दिया है. समाचार एजेंसी एएनआई ने इसे ‘आतंकवादी’ लिखा है, जबकि कई लोगों ने कहा है कि कमल हासन उसे अतिवादी बता रहे थे.

समाचार एजेंसी के मुताबिक हासन ने कहा कि – मैं ये इसलिए नहीं बोल रहा हूं क्योंकि यहां काफी मुस्लिम हैं. ये बात मैं यहां महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने कह रहा हूं. स्वतंत्र भारत का पहला आतंकवादी हिंदू है, उसका नाम है- नाथूराम गोड़से.

पिछले साल कमल हासन ने फिल्मी दुनिया छोड़ सियासत का दामन थामा है. उन्होंने नई पार्टी मक्कल निधि मैय्यम की स्थापना भी की है. वो लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं बल्कि अपने प्रत्याशियों के प्रचार में जुटे हैं. उनकी पार्टी एमएनएम के घोषणापत्र में बड़े-बड़े वादे हैं जिनमें 50 लाख नौकरियां और महिलाओं को पचास फीसदी आरक्षण शामिल है. हासन ने ये भी सुनिश्चित करने का वादा किया है कि राज्यपाल विधायकों के ज़रिए चुने जाएं.

गौरतलब है कि हालिया लोकसभा चुनाव में हिंदू आतंकवाद का मुद्दा चरम पर है. बीजेपी ने भोपाल में कांग्रेस के दिग्विजय सिंह के खिलाफ मालेगांव बम धमाके की आरोपी प्रज्ञा को टिकट दिया तो ये मुद्दा फिर हाईलाइट हो गया. बीजेपी भी आक्रामक हुई और अब कमल हासन के बयान के बाद उसके और भी आक्रामक होने के आसार हैं.

Related Posts