कर्नाटक संकट: कल होगा कुमारस्‍वामी का बहुमत परीक्षण, येदुरप्‍पा बोले- सदन में ही सोएंगे बीजेपी MLA

फिलहाल मुंबई में डेरा डाले 14 बागियों में से कांग्रेस के 11 और जद-एस के तीन विधायक हैं. इसके अलावा दो अन्य कांग्रेस के बागी विधायक आर. रामालिंगा और आर.रोशन बेंगलुरू में डटे हुए हैं.

LIVE UPDATES

# बीएस येदुरप्‍पा का सदन छोड़ने से इनकार. कहा- विश्‍वास मत पर फैसले तक सदन में ही रहेंगे बीजेपी विधायक

# कर्नाटक बीजेपी प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा में कहा कि भले ही आज आधी रात को हो, लेकिन आज ही हो विश्वास मत.

# कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी विधानसभा पहुंचे. उनकी सरकार आज फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी.

# विधानसभा सत्र के बाद कांग्रेस पार्टी अपने विधायकों को ईगलटन रिसॉर्ट में ट्रांसफर कर सकती है.

# अगर हम विश्वास प्रस्ताव के साथ आगे बढ़ते हैं. अगर व्हिप लागू होता है और बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट के आदेश के कारण सदन में नहीं आाते हैं तो यह गठबंधन सरकार के लिए एक बड़ा नुकसान होगा: सिद्धारमैया, कांग्रेस, कर्नाटक विधानसभा में

# सुप्रीम कोर्ट के पिछले आदेश पर जब तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो जाती तब तक फ्लोर टेस्ट कराना असंवैधानिक होगा: सिद्धारमैया, कांग्रेस, कर्नाटक विधानसभा में

# एक पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष का नेता होने के बावजूद वह (बीएस येदियुरप्पा) राष्ट्र और कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं: डीके शिवकुमार

# जब एक सदस्य नहीं आने का फैसला करता है तो हमारे अटेंडेंट उन्हें अटेंडेंस रजिस्टर में साइन करने नहीं देंगे. इस सदस्य को ऐसा कोई भत्ता लेने की इजाजत नहीं होगी जो एक सदस्य को सदन में उपस्थित रहने पर मिलता है: विधानसभा स्पीकर

# अगर आप सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए इस अधिकार में बदलाव का इरादा रखते हैं तो आपको ऐसा करने की छूट है: कर्नाटक स्पीकर

# विधानसभा से 19 विधायक गायब रहे जिनके नाम इस प्रकार हैं- एमटीबी बसवराज, बीसी पाटिल, एच विश्वनाथ, महेश कुमताहल्ली, प्रताप गौड़ा पाटिल, डॉ सुधाकर, एसटी सोमशेखर, रमेश झारकीहोली, रोशन बेग, बैरती बसवराज, मुनिरत्ना, श्रीमंत पाटिल, आनंद सिंह, बी नागेंद्र, आर शंकर, के गोपलय्या, नारायण गौड़ा,  शिवराम हेब्बार और एन मेहश

# यह सदन सुप्रीम कोर्ट का सबसे ज्यादा सम्मान करता है. मैं कांग्रेस के नेताओं को साफ कर देना चाहता हूं कि यह ऑफिस आपको आपके अधिकारों का इस्तेमाल करने से रोक नहीं रहा है. उसमें मेरी कोई भूमिका नहीं है: कर्नाटक स्पीकर

# कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा, ‘मेरा अपना आत्मसम्मान है और मेरे मंत्रियों का भी. मैं यहां कुछ बातें स्पष्ट करना चाहता हूं. सरकार को अस्थिर करने के लिए कौन ज़िम्मेदार है?

# पाटिल के सत्र से गैरहाजिर होने के बाद सत्तारूढ़ सहयोगी की विधानसभा में संख्या 66 रह गई है. इसमें विधानसभा अध्यक्ष व वरिष्ठ बागी विधायक आर.रामलिंगा रेड्डी शामिल हैं.

कांग्रेस के 12 बागी विधायकों व जद (सेक्युलर) के तीन विधायकों के गैर हाजिर होने से सदन में सत्तारूढ़ गठबंधन की संख्या 101 है. इसमें बहुजन समाज पार्टी का एक विधायक शामिल है.

इस तरह से सदन की कुल संख्या 225 से घटकर 210 हो गई है. इस तरह से बहुमत के लिए 106 सदस्यों की जरूरत होगी.

 

# कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल सीने में दर्द की शिकायत के बाद मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती किए गए हैं. वह बेंगलुरु में दूसरे विधायकों के साथ रिजॉर्ट में रुके थे.

# बीएसपी विधायक एन महेश विश्वास मत के दौरान सदन में मौजूद नहीं हैं.

# मैंने अपने कार्यकाल के दौरान राज्य के लिए बहुत मेहनत से काम किया… विपक्ष मेरी सरकार को गिराना चाहता है… मैं सभी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हूं.. मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी

# कुमारस्वामी ने चर्चा के दौरान कहा कि मैं यहां सिर्फ इसलिए नहीं आया हूं जिससे यह स्पष्ट हो सके कि राज्य में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार चलेगी या नहीं. कुछ विधायकों की वजह से स्पीकर का रोल भी अब ख़तरे में हैं.

# एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव पेश किया

# बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा अपने सभी विधायकों के साथ बस में बैठकर कर्नाटक विधानसभा पहुंचे हैं.

# हम 101 प्रतिशत आश्वस्त हैं. वे 100 से कम हैं, हम 105 हैं. इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनकी हार होगी: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा

# कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी भी विधानसभा पहुंच गए हैं. आज इन्हें विश्वास मत हासिल करना होगा अन्यथा राज्य में इनकी सरकार गिर जाएगी.

 

पहले से ही संकट झेल रही गठबंधन सरकार की दिक्कतें सुप्रीम कोर्ट से भी कम नहीं हुई. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को फैसला दिया कि सत्ताधारी गठबंधन के भविष्य के फैसले के लिए बागी विधायकों को विधानसभा सत्र में हिस्सा लेने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता.

अदालत के फैसले को राजनीतिक हलकों में बागी विधायकों के लिए राहत माना गया क्योंकि इसमें स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि उन्हें एक विकल्प दिया जाना चाहिए कि वे विधानसभा की कार्यवाही में हिस्सा लेना चाहते हैं या उससे दूर रहना चाहते हैं.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की पीठ ने फैसला सुनाते हुए कहा था कि विधायकों के इस्तीफे पर फैसला स्पीकर करें. कोर्ट ने कहा कि स्पीकर नियमों के अनुसार फैसला करें. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, ‘हमे इस मामले में संवैधानिक बैलेंस कायम करना है. स्पीकर खुद से फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं. उन्हें समयसीमा के भीतर निर्णय लेने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता.’

इस वक्त जब गठबंधन सरकार को सदन में फ्लोर टेस्ट देना है, कांग्रेस का एक विधायक गायब हो गया है. गायब विधायक श्रीमंत बालासाहेब पाटिल को कांग्रेस नेता ढूंढने में लगे हैं. पाटिल को अंतिम बार रात 8 बजे रिजॉर्ट में देखा गया था.

मिली जानकारी के मुतबाकि कांग्रेस अपने लापता विधायक को ढूंढने के लिए 10 टीमों का गठन किया है. सभी टीमें हर संभावित जगहों पर विधायक की तलाश करने के लिए रवाना हुई हैं.

कांग्रेस विधायक पाटिल को तलाशते-तलाशते एयरपोर्ट पर भी गए लेकिन वहां भी वे नजर नहीं आए. उनसे फोन पर भी संपर्क नहीं हो पा रहा है. कांग्रेस को उम्मीद है कि वह उसे ढूंढ लेगी. वहीं कांग्रेस विधायक का फोन भी स्विच ऑफ है.

वहीं कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के.आर. रमेश कुमार ने बुधवार को कहा कि वे सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश का पालन करेंगे, जिसमें कहा गया है प्रदेश के सत्तारूढ़ कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन के 15 बागी विधायकों को सदन की कार्यवाही में शामिल होने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता.

सर्वोच्च न्यायालय के आदेश देने के तुरंत बाद रमेश कुमार ने कोलार स्थित अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा, “मैं 15 बागी विधायकों के इस्तीफे पर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन करूंगा. मैं इस्तीफों पर निर्णय लेने में देर नहीं करूंगा.”

कुमार ने कहा, “विधानसभा के मामलों की सलाहकार समिति द्वारा सोमवार को तय किए समय के अनुसार, विश्वास मत सदन में गुरुवार को पेश किया जाएगा, जिसमें मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सत्तारूढ़ और विपक्ष के सदस्यों की बहस के बाद बहुमत परीक्षण के लिए विश्वास मत लाएंगे.”

इस्तीफा देने वाले 16 बागी विधायकों में 13 कांग्रेस के और तीन जद-एस के हैं. इनमें से 15 विधायकों ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर कर विधानसभा अध्यक्ष को उनके इस्तीफे स्वीकार करने का निर्देश देने का आग्रह किया है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आर. रामलिंगा रेड्डी अपने इस्तीफे पर शीर्ष अदालत नहीं गए. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष के कार्यालय में छह जुलाई को इस्तीफा पेश किया था.