Bangalore: कोरोना से जंग में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी, नर्सिंग और MBBS स्टूडेंट्स को नियुक्त करेगी सरकार

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में रेजिडेंट डॉक्टर्स, स्नातकोत्तर और MBBS लास्ट ईयर के स्टूडेंट्, और नर्सिंग स्टूडेंट्स को शामिल करने की बात चिकित्सा मंत्री ने कही है.
Medical and Nursing students in Bengaluru, Bangalore: कोरोना से जंग में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी, नर्सिंग और MBBS स्टूडेंट्स को नियुक्त करेगी सरकार

बैंगलौर में बढ़ते कोरोनावायरस संकट (Coronavirus Pandemic) से निपटने में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी के चलते कर्नाटक सरकार (Karnatak Government) 17 मेडिकल कॉलेज और शहर के आस-पास के मेडिकल और नर्सिंग के छात्रों (Nursing Students) की नियुक्ति की योजना बना रही है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

कर्नाटक के चिकित्सा शिक्षा मंत्री के सुधारकर, मुख्य सचिव टी.एम विजय भास्कर और अन्य अधिकारियों ने सोमवार को इस संबंध में एक बैठक की. इस मीटिंग में कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में रेजिडेंट डॉक्टर्स, स्नातकोत्तर और MBBS लास्ट ईयर के स्टूडेंट्, और नर्सिंग स्टूडेंट्स के इस लड़ाई में इस्तेमाल करने पर चर्चा हुई है.

2000 स्टूडेंट्स की होगी नियुक्ति

राज्य सरकार ने 2000 ऐसे छात्रों को इस काम में नियुक्त करने की योजना बनाई है जो कि 16 जुलाई को पोस्ट ग्रेजुएशन की परीक्षा देंगे. चिकित्सा शिक्षामंत्री ने कहा कि हम 16 जुलाई को पीजी की परीक्षा में शामिल होने वाले 2000 स्टूडेंट्स को नियुक्त करने की योजना बना रहे हैं. इन्हें सीनियर रेजिडेंट के रूप में नियुक्त किया जाएगा, ये बेंगलूरू के 17 मेडिकल कॉलेजों से हैं.

इसी तरह हम MBBS फाइनल ईयर के छात्रों और हाउस सर्जन्स को भी कोरोनावायरस संक्रमण के खिलाफ जंग में शामिल करने की योजना बना रहे हैं. हम इस मामले में अभी कानूनी प्रक्रिया देख रहे हैं. जब तक इनकी अस्पतालों में नियुक्ति नहीं होती तो ये लोग कोविड केयर सेंटर्स पर बेसिक चिकित्सा सुविधाओं के लिए लगाए जाएंगे.

जोखिम भत्ता वेतन से दोगुना करेगी सरकार

वहीं इससे अलग राज्य सरकार एक और प्रस्ताव को मंजूरी दे सकती है जिसमें अस्पतालों में मौजूद कर्मचारियों और सफाई कर्मचारियों के भत्ते में एक जोखिम भत्ता जोड़ा जाएगा, जिसमें भत्ता उनके मूल वेतन से दोगुना है. मंत्री ने कहा कि हम अस्पतालों में डी समूह के श्रमिकों को जोखिम भत्ता प्रदान करने के बारे में सोच रहे हैं, ये उन लोगों को लिए होगा जो अस्पतालों को साफ रखते हैं और कर्मचारियों की सहायता करते हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts