कर्नाटक संकट: कुमारस्वामी सरकार गिरी, विश्वासमत में छह वोटों से मिली हार

स्पीकर ने कहा कि मंगलवार शाम छह बजे तक बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

Live Updates:

  • कर्नाटक बीजेपी प्रमुख बीएस येदियुरप्पा बुधवार को गवर्नर से मिलकर राज्य में सरकार के गठन का दावा पेश करेंगे.
  • एचडी कुमारस्वामी ने गवर्नर को सौंपा इस्तीफा. गवर्नर ने इस्तीफा स्वीकार करते हुए कुमारस्वामी को अगले मुख्यमंत्री के पद ग्रहण करने तक केयरटेकर सीएम बनने के लिए कहा है.
  • सिद्धारमैया ने ट्वीट कर कहा, “मैं फिर से पुष्टि करना चाहूंगा कि जो लोग ऑपरेशन कमल के चक्कर में पड़ गए, उन्हें हमारी पार्टी में वापस शामिल नहीं किया जाएगा. भले ही आसमान गिर जाए.

  • कुमारस्वामी अपना इस्तीफा सौंपने के लिए राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे हैं. जी परमेश्वर और डीके शिवकुमार भी कुमारस्वामी के साथ हैं.
  • कुमारस्वामी सरकार गिरने के बाद कल यानी बुधवार को बीजेपी के येदियुरप्पा गवर्नर से मिल सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.
  • गवर्नर को इस्तीफा देने पहुंचे कुमारस्वामी.
  • छह वोटों से गिरी कुमारस्वामी सरकार. बीजेपी को मिले 105 तो कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के खाते में आए 99 वोट. विधानसभा में सरकार बनाने का जादूई आंकड़ा 103 था.
  • कर्नाटक विधानसभा सदन में हो रहा है फ्लोर टेस्ट. 2 मिनट के भीतर सभी विधायकों को गिनती के लिए विधानसभा के अंदर उपस्थित होना है.
  • स्पीकर रमेश कुमार अपना इस्तीफा लेकर सदन में आए हैं. उन्होंने कहा जरूरत पड़ी और अगर फ्लोर टेस्ट नही हुआ तो वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे.
  • मैं भागने वालो में से नही हूं. मैं फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हूं: कुमारस्वामी
  • मैं विपक्ष और मतदाताओं से इंतजार कराने के लिए माफी मांगता हूं. मैं वर्तमान राजनीतिक घटनाक्रम से तंग आ चुका हूं. मैं अपना पद त्यागने के लिए तैयार हूं: कुमारस्वामी

  • मैं फिल्म इंडस्ट्री से आता हूं, मैं एक फिल्म प्रोडूसर था: कुमारस्वामी
  • कांग्रेस और जेडीएस अच्छा काम करने के लिए साथ आई थीं: कुमारस्वामी
  • जिस अविश्वास प्रस्ताव को लेकर मैं चर्चा में आया हूं, उस पर 4 दिन चर्चा हुई. कर्नाटक के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है क्योंकि किसी भी विपक्षी नेता ने इस तरह की चर्चाओं में हिस्सा नहीं लिया है: कुमारस्वामी
  • मैं राज्य के छह करोड़ लोगों से कहता हूं कि मैं आर्टिकल 10 (डिसक्वालीफिकेशन) के बारे में बात नहीं करूंगा. मैंने जिंदगी में काफी गलतियां की हैं और कई अच्छे काम किए हैं: कुमारस्वामी
  • मैंने कभी राजनीति में आने का नहीं सोचा था. शादी करते वक्त पत्नी से कसम खाई थी कि राजनीति में नहीं आऊंगा: कुमारस्वामी
  • बैंगलूरू में धारा 144 हुई लागू. बैंगलुरू में 48 घंटे तक बार और पब्स बंद रहेंगे.
  • ये मेरा नसीब है कि मैं राजनीति में आया. मुझे मुख्यमंत्री बने रहने की कोई लालच नही है: एचडी कुमारस्वामी
  • कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सदन में बोल रहे हैं. उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कहा कि वह एक एक्सीडेंटल चीफ मिनिस्टर हैं.
  • कर्नाटक के राजनीतिक संकट पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, ‘सरकारें आती और जाती रहेंगी लेकिन संविधान बचा रहना चाहिए. विधायकों की खरीद फरोख्त शर्मनाक और असंवैधानिक है.’
  • कर्नाटक का संकट ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है.

मंगलवार को एक बार फिर से विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई है. विश्वास मत पर चर्चा के दौरान राज्य के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा कि हमें अपनी विचारधारा पर टिके रहना चाहिए. जनादेश नरेंद्र मोदी को मिला था बीएस येदियुरप्पा को नहीं.

डीके शिवकुमार ने कहा, ‘मुझे बागी विधायकों ने बताया कि उन्हें मंत्री पद दिये जायेंगे. मैंने उनसे कहा कि उन्हें गुमराह किया जा रहा है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘येदियुरप्पा के हौसले की दाद देनी होगी. इन्होंने ऑपेरशन कमल को सफल करने की ये 7वीं कोशिश की है.’

विश्वास मत प्रस्ताव पर तीन दिन की बहस के बाद भी सोमवार को वोटिंग नहीं हो सकी. सोमवार को देर रात तक विधानसभा की कार्यवाही चलती रही.

आखिरकार स्पीकर केआर रमेश कुमार ने मंगलवार सुबह तक के लिए सदन को स्थगित करते हुए बहुमत परीक्षण की नई डेडलाइन तय की है. इस बीच स्पीकर ने कहा कि मंगलवार शाम छह बजे तक बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

उधर, 13 बागी विधायकों ने स्पीकर रमेश कुमार को पत्र लिखकर सदन में उनके समक्ष उपस्थित होने के लिए 4 सप्ताह का समय मांग लिया है.

बीजेपी और जेडीएस-कांग्रेस विधायकों के हंगामे के बीच पूर्व सीएम और कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया ने सदन में कहा, ‘मंगलवार को हमारे कुछ सदस्यों के संबोधन के बाद हम बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया को पूरा कर लेंगे. शाम चार बजे तक चर्चा पूरी हो जाएगी और शाम छह बजे तक विश्वास प्रस्ताव पर बहुमत परीक्षण संपन्न हो जाएगा.’

इसके बाद देर रात 11 बजकर 45 मिनट पर कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही को मंगलवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

उधर विश्वास मत प्रस्ताव पर वोटिंग में हो रही देरी को लेकर बीजेपी विधायकों ने सदन में हंगामा किया.

कार्यवाही स्थगित करने से पहले स्पीकर रमेश कुमार ने सरकार को बार-बार यह याद दिलाया कि उसे विश्वास मत प्रक्रिया को सोमवार तक संपन्न कराए जाने के खुद किए गए वादे का सम्मान करना चाहिए. हालांकि स्पीकर की नसीहत के बीच कांग्रेस विधायकों ने कार्यवाही खत्म होने से पहले जमकर हंगामा मचाया. जब सदन को स्थगित किया गया, उस वक्त डेप्युटी चीफ मिनिस्टर जी परमेश्वर सदन में मौजूद नहीं थे. सिद्धारमैया ने स्पीकर से कहा, ‘100 प्रतिशत…कल (मंगलवार को) वोटिंग हो सकती है.’

विश्वास मत प्रस्ताव पर लंबी प्रक्रिया से नाराज स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि मंगलवार को शाम चार बजे तक चर्चा संपन्न हो जाएगी और शाम छह बजे तक वोटिंग की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी. इससे पहले स्पीकर ने सदन में कहा, ‘मुझे इतना मजबूर मत करिए कि मैं बिना आपसे पूछे ही कोई फैसला ले लूं. इसके नतीजे खतरनाक हो सकते हैं.’

सदन में कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार ने कहा, ‘स्पीकर ने बागी विधायकों को नोटिस दिया है, उन्हें मंगलवार सुबह 11 बजे तक का समय दिया गया है. बीजेपी उन्हें समझाने की कोशिश कर रही है कि उन्हें अयोग्य नहीं ठहराया जाएगा और उन्हें मंत्री बनाया जाएगा. भारत के संविधान के अनुसार, अयोग्य घोषित किए जाने के बाद आपको सदस्य नहीं बनाया जा सकता.’ शिवकुमार ने कहा कि अगर विधायक स्पीकर के सामने हाजिर नहीं हुए तो उन्हें अयोग्य ठहराया जाएगा.

Related Posts