बकरीद पर कश्मीरियों की घर लौटने में मदद करेगा प्रशासन, जारी किए हेल्पलाइन नंबर

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता व राज्‍यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद को आज श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया था. उनके साथ J&K कांग्रेस प्रमुख गुलाम अहमद मीर भी थे.

प्रतीकात्मक तस्वीर

श्रीनगर. कश्मीर में तनावपूर्ण हालात व आगामी ईद त्योहार को ध्यान में रखते हुए श्रीनगर के जिलाधिकारी शाहिद चौधरी ने गुरुवार को बाहर रह रहे जम्मू एवं कश्मीर के निवासियों के लिए घर वापसी यात्रा में सहायता व कश्मीर में संबंधियों से संपर्क करने के लिए हेल्पलाइन नंबरों की घोषणा की.

उन्होंने ट्वीट किया, “डीसी कार्यालय श्रीनगर ने दो हेल्पलाइन नंबर 9419028242, 9419028251 स्थापित किए हैं. राज्य के बाहर निवासी/छात्र इन पर संपर्क कर सकते हैं. घर लौटने वाले परिवार भी इन लाइनों का इस्तेमाल पहुंचने के लिए कर सकते हैं.”

चौधरी ने यह भी कहा कि पारगमन वाले यात्रियों के लिए लंगर लगाए गए हैं और आवास व परिवहन की व्यवस्था की गई है. उन्होंने कहा, “बड़ी संख्या में श्रमिकों को ध्यान में रखते हुए उधमपुर/जम्मू से विशेष ट्रेन/कोच का समन्वय किया गया है. इसमें ईद पर घर जाने वाले लोग भी शामिल हैं.”

चौधरी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “दूसरे राज्यों में घर जाने की चाह रखने वाले श्रमिकों को सुविधा दी जा रही है. 1940 यात्रियों को लेकर 56 बसे बीते रोज रवाना हुईं. आज भी बसें भी गई.” उन्होंने कहा कि कश्मीर, जम्मू, लद्दाख के विभिन्न जिलों व बाहर के क्षेत्र में छात्रों के आवागमन के लिए 300 से ज्यादा वाहनों को लगाया गया है. कश्मीर में रविवार से सभी संचार की सेवाएं रोक दी गई हैं. इसमें सेल्युलर नेटवर्क, लैंडलाइन, मोबाइल इंटरनेट व ब्राडबैंड संपर्क शामिल है.

श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोके गए गुलाम नबी आजाद

संविधान के अनुच्‍छेद 370 में संशोधन के बाद केंद्र सरकार जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति का दावा कर रही है. हालांकि कांग्रेस इससे सहमत नहीं दिखती. पार्टी के वरिष्‍ठ नेता व राज्‍यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद को आज श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया. उनके साथ J&K कांग्रेस प्रमुख गुलाम अहमद मीर भी थे. बाद में उन्‍हें अगली फ्लाइट से दिल्‍ली वापस भेज दिया गया.

उधर, जम्मू एवं कश्मीर के कारगिल, द्रास और सांकू क्षेत्रों में शांति और स्थिरता कायम रखने के लिए गुरुवार को अनिश्चित काल के लिए निषेधाज्ञा लागू कर दी गई. जिला प्रशासन ने यह जानकारी दी. कारगिल जिला प्रशासन ने क्षेत्र में स्कूलों और कॉलेजों को भी अगले आदेश तक बंद रखने का निर्देश दे दिया है.

जिला अधिकारी बसीर उल हक चौधरी ने निर्देश दिया कि सीपीआरसी की धारा 144 मेडिकल और स्वास्थ सेवाओं या लोक निर्माण विभाग पर लागू नहीं होगी. अनुच्छेद 370 हटाने और जम्मू एवं कश्मीर को दो भागों में विभाजित किए जाने के बाद कारगिल जिले में विरोध प्रदर्शन के तौर पर ‘बंद’ आयोजित किया गया था. बंद का आवाह्न जॉइंट एक्शन कमेटी (जेएसी) कारगिल ने किया था.

Jammu and Kashmir Updates

  • कश्मीर में तनावपूर्ण हालात व आगामी ईद त्योहार को ध्यान में रखते हुए श्रीनगर के जिलाधिकारी शाहिद चौधरी ने गुरुवार को बाहर रह रहे जम्मू एवं कश्मीर के निवासियों के लिए घर वापसी यात्रा में सहायता व कश्मीर में संबंधियों से संपर्क करने के लिए हेल्पलाइन नंबरों की घोषणा की. हेल्पलाइन नंबर- 9419028242, 9419028251.
  • करीब 70 पाकिस्तानी समर्थक आतंकी, अलगाववादी आगरा शिफ्ट हो गए हैं. इन्हें वायु सेना के विशेष विमान से आगरा शिफ्ट किया गया है. 
  • जम्मू कश्मीर में हालात सामान्य, सरकार ने शुक्रवार से सरकारी कर्मचारियों को काम पर वापस लौटने का आदेश दिया है. 
  • समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में भारतीय इंजन अटैच कर दिया गया है. स्थानीय प्राधिकारी से मंजूरी के बाद वह भारत के लिए रवाना होगा. वाघा बॉर्डर रेलवे स्टेशन से सुरक्षा और कस्टम क्लीयरेंस के बाद यह ट्रेन भारत पहुंचेगी.
  • पाकिस्तान द्वारा राजनयिक संबंधों को कम करने के आदेश के बाद भारतीय उच्चायुक्त ने अजय बिसारिया ने इस्लामाबाद छोड़ दिया है. वह लाहौर जा रहे हैं. यहां से वह वाघा बॉर्डर के जरिए भारत वापस आएंगे.
  • कर्ण सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने जम्मू कश्मीर के डेवलपमेंट का स्वागत किया. उन्होंने कहा अब जम्मू कश्मीर को संवैधानिक समानता प्राप्त हुआ है.
  • इमरान खान सरकार में मंत्री शेख राशिद ने भारत को धमकी देते हुए कहा की भारत के साथ जंग भी हो सकती है.
  • पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन रद्द कर दी है. ये ट्रेन भारत और पाकिस्तान के बीच चलती है. ट्रेन रद्द करते हूए पाकिस्तान ने कहा कि ट्रेन को वापस ले जाने के लिए भारत अपना इंजन और क्रू भेजे. पाकिस्तान की इस कार्रवाई के बाद भारत ने अपना इंजन पाकिस्तान भेज दिया है.
  • गुलाम नबी आजाद को अगली फ्लाइट से आपस दिल्‍ली भेज दिया जाएगा. फिलहाल उन्‍हें श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोका गया है.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इसी मुद्दे पर राष्‍ट्र को संबोधित कर सकते हैं. उनका संबोधन रात 8 बजे होगा. आकाशवाणी की तरफ से पहले जानकारी दी गई थी कि वह शाम 4 बजे राष्‍ट्र के नाम संबोधन देंगे. हालांकि बाद में यह ट्वीट डिलीट कर दिया गया.
  • “सबसे बड़ी आशंका तो हमें हमारे पड़ोसी के बारे में रहती है. समस्‍या ये है आप दोस्‍त बदल सकते हैं पड़ोसी का चुनाव आपके हाथ में नहीं होता है. और जैसा पड़ोसी हमारे बगल में बैठा है, परमात्‍मा करे कि ऐसे पड़ोसी किसी को न मिले.” : गृह मंत्री राजनाथ सिंह
  • सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को आर्टिकल 370 पर प्रेसिडेंशियल ऑर्डर को चुनौती देती याचिकाओं की तत्‍काल सुनवाई से इनकार कर दिया.
  • जनरल वीके सिंह ने आर्टिकल 370 में संशोधन के बाद पाकिस्‍तान की प्रतिक्रिया को ‘बेतुका’ बताया है. उन्‍होंने कहा कि 370 का मामला हमारा अंदरूनी मामला है, पाकिस्‍तान के पूछकर कुछ नहीं करेंगे. पाकिस्‍तान के यूएन में कश्‍मीर मुद्दे को ले जाने पर मंत्री ने कहा कि ‘कश्‍मीर का कोई मुद्दा ही नहीं है. सिंह ने आगे कहा, “इनकी (पाकिस्‍तान) आदत है कि जबरदस्ती कश्मीर का मुद्दा उठाया जाए. कश्मीर का कोई मुद्दा ही नहीं है. मुद्दा यह है कि (कश्‍मीर का) एक-तिहाई हिस्सा उन्होंने अपने काबू में कर रखा है, वह हमें वापस दे दें और आराम से रहें.”
  • कांग्रेस समर्थक बिजनेसमैन तहसीन पूनावाला ने जम्मू-कश्मीर में लागू धारा 144 के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. पूनावाला ने मांग की है कि घाटी से धारा 144 लागू हटाया जाए और मोबाईल- इंटरनेट सेवा बहाल किया जाए. तहसीन पूनावाला का कहना है कि इस तरह के प्रतिबंध संविधान के अनुच्छेद 19 और 21 के तहत मिले मूल अधिकारों के खिलाफ है.
  • दो अमेरिकी डेमोक्रेटिक सांसदों ने पाकिस्‍तान को भारत के खिलाफ किसी ‘जवाबी आक्रामक कार्रवाई’ से बचने की नसीहत दी है. सीनेटर रॉबर्ट मेननडे और संसद की विदेश मामलों की समिति के कांग्रेसमैन इलियट एंजेल ने एक संयुक्‍त बयान में जम्‍मू-कश्‍मीर के हालात पर चिंता जताई. रॉबर्ट जहां सीनेट की विदेश मामलों की समिति रैंकिंग सदस्‍य हैं, वहीं इलियट सदन की विदेश मामलों की समिति के प्रमुख हैं.

Related Posts