केरल गोल्ड स्मगलिंग: विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने उठाए सीएम ऑफिस पर सवाल, बोले- तथ्यों को छिपाया

केंद्रीय मंत्री ने कहा, "इस सिलसिले में सीएम ने प्रधानमंत्री जी को पत्र लिखा और एक खास एजेंसी से जांच की मांग की. बाद में वो लोग एजेंसी को कटघरे में खड़ा करने लगे और राजनीतिक बदला लेने की साजिश बताने लगे."

विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन

केरल के सनसनीखेज सोने की तस्करी मामले पर विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने केरल की पिनराई विजयन सरकार को घेरत हुआ कहा कि अगर राज्य सरकार का इससे कुछ लेना नहीं था, तो वो सीबीआई जांच रुकवाने के लिए कोर्ट क्यों गई?

उन्होंने कहा कि साबसे पहले 5 जुलाई को 20 किलो सोना, जो 22 करोड़ से ज्यादा वैल्यू का था त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट पर पकड़ा गया. अब इसकी जांच राज्य के मुख्यमंत्री के दरवाजे तक पहुंच चुकी है.

मुरलीधरन ने कहा कि अब ये साफ हो गया है कि सपना सुरेश को एक करोड़ का कमीशन मिला था, जिसमें फेरा और टैक्स चोरी का मामला चलेगा. उसने सीएम दफ्तर में अपना लिंक बताया, जिसे सीएम दफ्तर ने नकार दिया.

“पहले खास एजेंसी की जांच की मांग बाद में उठाए सवाल”

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, “इस सिलसिले में सीएम ने प्रधानमंत्री जी को पत्र लिखा और एक खास एजेंसी से जांच की मांग की. बाद में वो लोग एजेंसी को कटघरे में खड़ा करने लगे और राजनीतिक बदला लेने की साजिश बताने लगे.”

इतना ही नहीं मुरलीधरन मामले में सबूत मिटाने का आरोप लगाते हुए कहा, “कुछ दिनों पहले ही इस मामले की जांच कर रही एजेंसी के दफ्तर में एविडेंस को खत्म करने के लिए कागज जलाए गए और शार्ट सर्किट की बात कही गई.”

“सीएम कार्यालय ने छिपाए तथ्य”

उन्होंने कहा कि अब सीएम के प्रधान सचिव जांच के दायरे में हैं. पहले उन्हें बचाने के लिए सीएम कार्यालय उनका पक्ष लेता रहा बाद में उनका इस्तीफा ले लिया. अब एक बात साफ है कि चीफ मिनिस्टर ऑफिस ने तथ्यों को छिपाया है. अब केरल की जनता के तरफ से बीजेपी केरल के मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग करती है.

आखिर में विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि चाक एजेंसी अपने-अपने स्तर पर इसकी जांच कर रही हैं. कस्टम, ईडी, सीबीआई, NIA अपने-अपने क्षेत्र में जांच कर रही हैं. एजेंसी द्वारा इसमें अंडरवर्ल्ड और टेरर फंडिंग के लिंक की भी जांच हो रही है.

केरल : दाऊद इब्राहिम की डी-कंपनी से जुड़े सोना तस्करी के तार, NIA का बड़ा खुलासा

Related Posts