ऑनलाइन मिलेगी कैदियों की बनाई बिरयानी, चावल-लेग पीस… के साथ खाने के लिए केले का पत्ता भी

कॉम्बो में 300 ग्राम बिरयानी वाले चावल, एक भुना हुआ चिकन लेग पीस, तीन रोटियां, एक कप केक, सलाद, आचार और एक लीटर पानी की बोतल होगी.

नई दिल्ली: केरल जेल प्रशासन ने कैदियों द्वारा बनाई गई बिरयानी ऑनलाइन बेचने की पहल की है. इसके तहत 127 रुपये कीमत का बिरयानी कॉम्बो ऑनलाइन बेचने की योजना है. कॉम्बो में 300 ग्राम बिरयानी वाले चावल, एक भुना हुआ चिकन लेग पीस, तीन रोटियां, एक कप केक, सलाद, आचार और एक लीटर पानी की बोतल होगी. साथ ही बिरयानी खाने के लिए केले का पत्ता भी होगा.

वियूर केंद्रीय कारागार के अधिकारी जेल के परिसर से बिरयानी देने के लिए ऑनलाइन फूड मुहैया कराने वाली कंपनी स्विग्गी से करार कर चुके हैं. केरल की जेलों में कैदियों द्वारा तैयार भोजन बेचने की कंपनी फ्रीडम फूड फैक्ट्री साल 2011 से इस उद्योग में शामिल है.

‘पहली बार ऑनलाइन खाना बेचने जा रहे’
वियूर केंद्रीय कारागार के अधीक्षक निर्मलानंदन नायर ने पीटीआई को बताया, “हम पहली बार ऑनलाइन खाना बेचने जा रहे हैं. हमने साल 2011 में रोटियां बनाना और बेचना शुरू किया था. वियूर केंद्रीय कारागार ने वाणिज्यिक रूप से रोटियां बनाना शुरू किया था. जेल के डीजीपी ऋषिराज सिंह ने ऑनलाइन खाना बेचने का सुझाव दिया था.”

निर्मलानंदन ने कहा कि ‘जेल का खाना अपनी गुणवत्ता और कम कीमत के कारण लोगों के बीच लोकप्रिय है. हम पहले ही वियूर जेल से कई तरह की बिरयानी, शाकाहारी व्यंजन, बेकरी के सामान बेच रहे हैं. लेकिन इस बार हमने ऑनलाइन जाने और शुरुआत में बिरयानी कॉम्बो बेचने का फैसला किया है.’

ये भी पढ़ें-

करतारपुर कमेटी से हटाया गया खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला, भारत के दबाव से झुका पाकिस्तान

“क्या आपको सेंस नहीं है कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं?”, युवराज के पापा ने धोनी पर बोला हमला

हार गए तो क्‍या, भारत-न्‍यूजीलैंड के बीच सेमीफाइनल मैच ने बना दिया ये रिकॉर्ड