VIDEO: जानिए क्या है लद्दाख की ‘सोलो संजीवनी’? जिसका PM मोदी ने किया जिक्र

‘कई हर्बल प्रोडक्ट जम्मू और लद्दाख में बिखरे पड़े हैं. उनकी पहचान और बिक्री होने से इसका बहुत बड़ा लाभ वहां के लोगों और किसानों को मिलेगा.’

नई दिल्ली: 370 पर किए गए फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया. PM ने अपने भाषण में सोलो संजीवनी का जिक्र किया.

उन्होंने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर के केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, सेब का मीठापन हो या खुबानी का रसीलापन, कश्मीरी शॉल हो या फिर कलाकृतियां, लद्दाख के ऑर्गैनिक प्रॉडक्ट्स हों या हर्बल मेडिसिन, इसका प्रसार दुनियाभर में किए जाने का जरूरत है.’

‘लद्दाख में सोलो नाम का एक पौधा पाया जाता है. जानकारों का कहना है कि ये पौधा हाई एल्टिट्यूड पर रहने वालों के लिए, बर्फीली पहाड़ियों पर तैनात सुरक्षा बलों के लिए संजीवनी का काम करता है. कम ऑक्सीजन वाली जगह पर शरीर के इम्यून सिस्टम को संभाले रखने में इसकी बहुत बड़ी भूमिका है.’

‘ऐसे कई हर्बल प्रोडक्ट जम्मू और लद्दाख में बिखरे पड़े हैं. उनकी पहचान और बिक्री होने से इसका बहुत बड़ा लाभ वहां के लोगों और किसानों को मिलेगा.’

जानिए क्या है ये सोलो संजीवनी? जिसका जिक्र PM ने अपने भाषण में किया…

ऊंची और ठंडी जगहों पर रोडिओला नाम का पौधा पाया जाता है. ये पौधा एक औषधि की तरह काम करता है. इसके सेवन से शरीर का इम्यून सिस्टम (प्रतिरोधी तंत्र) मजबूत होता है. ये हमें रेडियो एक्टिविटी से भी बचाता है. साथ ही पहाड़ी क्षेत्रों में अनुलूलित परिस्थितियों में ढलने में मदद भी मिलती है.

लद्दाख में इस पौधे को स्थानीय लोग ‘सोलो’ कहते हैं. इस पौधे के बारे में ज्यादा जानकारी न होने की वजह से वहां के लोग इस पौधे को सब्जी के रूप में इस्तेमाल करते हैं. लेह स्थित  DIHAR (डिफेंस इंस्टिट्यूट ऑफ हाई एल्टिट्यूड रिसर्च) ने इस पौधे पर रिसर्च की है.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान ने नवाज शरीफ की बेटी और विपक्ष की नेता मरयम को लिया हिरासत में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *