दुर्गापूजा पंडाल में अज़ान बजने से बढ़ा तनाव, वकील ने कहा- मस्जिद में गीता पाठ होगा तो मुझे दुख होगा

कोलकाता के बेलीघाटा 33 पल्ली दुर्गापूजा पंडाल में यह अजान बजते सुना गया. हालांकि आयोजकों का तर्क है कि धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए यहां पंडाल में मंदिर, मस्जिद और चर्च तीनों को शामिल करने की कोशिश की गई है.
दुर्गापूजा पंडाल, दुर्गापूजा पंडाल में अज़ान बजने से बढ़ा तनाव, वकील ने कहा- मस्जिद में गीता पाठ होगा तो मुझे दुख होगा

कोलकाता: राजधानी कोलकाता में भक्तिमय माहौल अचानक सांप्रदायिक तनाव में तब्दील हो गया. दुर्गा पूजा पंडाल में कथित तौर पर अजान की रिकॉर्डिंग बजने के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई. सोशल मीडिया पर इस मुद्दे पर बहस छिड़ी हुई है, वहीं एक वकील शांतनु सिन्हा ने इसे पूरी तरह से राजनीतिक मामला बताते हुए केस दर्ज कराया है.

जानकारी के मुताबिक कोलकाता के बेलीघाटा 33 पल्ली दुर्गापूजा पंडाल में यह अजान बजते सुना गया. हालांकि आयोजकों का तर्क है कि धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए यहां पंडाल में मंदिर, मस्जिद और चर्च तीनों को शामिल करने की कोशिश की गई है. इसी के तहत अजान के साथ-साथ मंत्रोच्चार और चर्च की घंटी के आवाज को भी शामिल किया गया.


उधर, वकील शांतनु सिंघा ने कहा, ‘कोई भी मुस्लिम हर पांच मिनट में ‘अजान’ की आवाज को लेकर उसकी सराहना नहीं करेगा. यह पूरी तरह से राजनीतिक है.’ उन्होंने आगे कहा, मुझे बताइए कि पूजा पंडाल में अजान से सांप्रदायिक सद्भाव को बढ़ावा देने में कैसे मदद मिलेगा? मैंने एक व्यक्ति के रूप में यह शिकायत दर्ज की है. अगर मस्जिद से गीता का पाठ किया जाता है तो मुझे दुख होगा. इसी तरह मुझे दुर्गा पूजा पंडाल में अजान से दुख है.

Related Posts