फेसबुक पर विधवा मां के लिए दूल्हा ढूंढ रहा है बेटा

गौरव की मां डोला को किताबें पढ़ने और गाने सुनने का बहुत शौक है, पर गौरव सोचते हैं कि किताबें और गाने एक साथी की कमी को पूरा नहीं कर सकते.
Facebook Become Marriage bureau, फेसबुक पर विधवा मां के लिए दूल्हा ढूंढ रहा है बेटा

पश्चिम बंगाल के हुगली शहर में एक युवक अपनी मां के लिए वर ढूंढ रहा है. सुनकर थोड़ा हैरान हुए हैं, तो आपको बता दें कि यह झूठ नहीं बल्कि सच है. इस शख्स का नाम गौरव अधिकारी है.

सामाजिक प्रथाओं से परे जाकर गौरव अपनी विधवा मां के लिए वर ढूंढ रहे हैं और वे अपनी मां के लिए हमसफर की तलाश फेसबुक के जरिए कर रहे हैं. गौरव ने अपने फेसबुक पर अपनी मां के साथ फोटो शेयर करते हुए उनके लिए हमसफर ढूंढने की बात लिखी है.

गौरव ने अपनी पोस्ट में ये लिखा कि अभी नौकरी के चलते और बाद में शादी और परिवार कि जिम्मेदारियों के चलते उनकी मां एकदम अकेली हो जाएंगी. यही वजह है कि उन्हें एक अच्छे जीवनसाथी की जरुरत है.

गौरव की मां डोला 45 साल की हैं. उनके पिता की मौत 2014 में हो गयी थी. गौरव की मां डोला को किताबें पढ़ने और गाने सुनने का बहुत शौक है, पर गौरव सोचते हैं कि किताबें और गाने एक साथी की कमी को पूरा नहीं कर सकते. ये बात उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में शेयर की है.

यह पोस्ट गौरव ने बंगाली भाषा में लिखा है. गौरव आगे लिखते हैं, ‘हमें पैसों या जमीन का कोई लालच नहीं है, लेकिन हम चाहते हैं कि भावी दूल्हा आत्मनिर्भर हो. वे मेरी मां को बस अच्छे से रखें, क्योंकि मेरी मां की खुशी में ही मेरी खुशी है.”

इसके बाद गौरव ने लिखा, “हो सकता है कि ऐसा करने के लिए लोग मेरा मजाक उड़ाएं, लेकिन इससे हताश होकर मैं अपना फैसला नहीं बदलने वाला. मैं अपनी मां को एक नई जिंदगी देना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि उन्हें जीवनसाथी के रूप में एक अच्छा दोस्त मिले.”

गौरव की ये पोस्ट सोशल मीडिया यूजर्स को काफी पसंद आ रही है और लोग अपनी प्रतिक्रिया देते हुए गौरव की जमकर तारीफ करते हुए इसे खूब शेयर कर रहे हैं.

यह पहली बार नहीं है जब किसी ने अपने पेरेंट्स के लिए जीवनसाथी ढूंढने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट की मदद ली है. इससे पहले आस्था नाम की एक लड़की अपनी मां के लिए हमसफर ढूंढने हेतु पोस्ट कर चुकी है.

 

ये भी पढ़ें-   हक के लिए अंग्रेजों से तीर-कमान लेकर भिड़ गए थे, जानें क्‍यों ट्रेंड हो रहे आदिवासियों के नायक बिरसा मुंडा

अश्विनी चौबे को वादा याद दिलाने पर आ गया गुस्सा, लोगों से बैनर छीनकर फाड़ा

Related Posts