पूर्व सीबीआई चीफ से संबंधित दो ठिकानों पर कोलकाता पुलिस के छापे, बेहिसाब संपत्ति का मामला

Share this on WhatsAppकोलकाता शारदा चिटफंड घोटाले को लेकर बंगाल पुलिस और सीबीआई के बीच उठा-पटक जारी है. उधर सीबीआई शिलॉन्ग में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने वाली है. तो उससे एक दिन पहले कोलकाता पुलिस ने पूर्व सीबीआई अंतरिम चीफ नागेश्वर राव से संबंधित कंपनी के पतों पर बेहिसाब संपत्ति के […]

कोलकाता

शारदा चिटफंड घोटाले को लेकर बंगाल पुलिस और सीबीआई के बीच उठा-पटक जारी है. उधर सीबीआई शिलॉन्ग में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने वाली है. तो उससे एक दिन पहले कोलकाता पुलिस ने पूर्व सीबीआई अंतरिम चीफ नागेश्वर राव से संबंधित कंपनी के पतों पर बेहिसाब संपत्ति के मामले में छापे मारे. ये कंपनी एंजेला मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड है जोकि राव की पत्नी की बताई जा रही है. इसपर राव यह साफ़ कर चुके हैं कि इस कंपनी से उनका कोई लेना-देना नहीं है. ये उनके एक पारिवारिक मित्र की है.

CBI और बंगाल पुलिस के बीच उठापटक

पिछले रविवार जब सीबीआई पुलिस कमिश्नर कुमार के लाउडन स्ट्रीट स्थित घर पर चिटफंड घोटाले से संबंधित जांच के लिए पहुंची थी तब राव उस वक्त सीबीआई के अंतरिम डायरेक्टर थे. इसके बाद से ही केंद्र और राज्य सरकार के बीच तनातनी जारी है. इसी के विरोध में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने पर बैठ गयी थीं. बाद में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया जिसमे सीबीआई को कुमार से पूछताछ करने की इजाजत थी पर उन्हें गिरफ्तार करने की मनाही थी. सर्वोच न्यायलय का आदेश आने तक बनर्जी का धरना 46 घंटे तक चला था. सीबीआई और बंगाल पुलिस पर ये आरोप लग रहे हैं कि वे सरकारों के इशारे पर काम कर रही है.

कंपनी के दो ठिकानों पर छापे

शुक्रवार शाम को पुलिस की दो टीमें डलहौज़ी क्लाइव रो और साल्ट लेक पते पर कंपनी के ठिकानों पर पहुंची. वरिष्ठ अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने से बचते रहे. हालांकि कई लोगों ने दोनों पतों पर पुलिस की कई गाड़ियां देखीं. क्लाइव रो वाला पता एंजेला मर्केंटाइल का रजिस्टर्ड ऑफिस है. इस पते पर 12 लोगों की टीम शाम 2 बजे के करीब पहुंची थी. वहीं साल्ट लेक वाले पते पर 6 लोगों की टीम सादे कपड़ों में पहुंची थी. ये कंपनी का अक्टूबर 2018 तक ऑफिस रहा था.

राव पेश कर चुके हैं सफाई

राव ने पिछले साल इसकी सफाई में एक पत्र पेश किया था. जिसमे उन्होंने अपनी पत्नी के फर्म के साथ संबंधों के बारे में बताया था और सभी आरोपों को ख़ारिज किया था. सीबीआई ने शुक्रवार को इसपर फिर से स्टेटमेंट जारी किया. इसमें लिखा था कि राव की पत्नी ने फर्म से लोन लेकर आंध्र प्रदेश में जमीन खरीदी. इसके बाद उन्होंने अपनी पैतृक जमीन बेचकर लोन चुकाया और बचे हुए पैसों को एंजेला मर्केंटाइल में निवेश भी किया.