हरियाणा में इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान अब कुमारी शैलजा के हाथ

5 दिन के अंदर ऐसा क्‍या हो गया कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हटाकर इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान कुमारी शैलजा को दे दी गई.
kumari Selja, हरियाणा में इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान अब कुमारी शैलजा के हाथ

नई दिल्‍ली: कांग्रेस पार्टी ने हरियाणा में इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान कुमारी शैलजा को सौंप दी है. कुछ दिनों पहले कुमारी शैलजा को हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्‍यक्ष बनाने की घोषणा की थी और अब उन्‍हें इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी का चेयरपर्सन भी बना दिया है.

5 सितंबर 2019 को ही कांग्रेस पार्टी ने अशोक तंवर को हटाकर कुमारी शैलजा को प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कमान सौंपी थी, जबकि भूपेंद्र सिंह हुड्डा को विधायक दल का नेता चुनने के साथ ही इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी का अध्‍यक्ष भी चुना गया था.

हरियाणा कांग्रेस में लंबे समय से उठापटक चल रही थी, जिसे खत्‍म करने के लिए यह फेरबदल किया गया था, लेकिन अब असमंजस इस बात को लेकर है कि 5 दिन के अंदर ऐसा क्‍या हो गया कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हटाकर इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान कुमारी शैलजा को दे दी गई.

5 सितंबर को गुलाम नबी आजाद ने कुमारी शैलजा को हरियाणा का अध्‍यक्ष बनाने और हुड्डा को इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी का चेयरपर्सन घोषित किया था. हरियाणा के पूर्व सीएम हुड्डा पिछले कुछ समय से लगातार नाराज चल रहे थे, उनकी नाराजगी दूर करने के लिए ही ये बदलाव किए गए थे.

हरियाणा में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. कुमारी शैलजा को इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी की कमान दिए जाने से अब सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कांग्रेस की तरफ सीएम कैंडिडेट कौन होगा? अभी तक तो इलेक्‍शन कैंपेन कमेटी के अध्‍यक्ष को ही सीएम पद का दावेदार माना जा रहा था, लेकिन अब कहानी में ट्विस्‍ट आ गया है.

5 सितंबर को जब भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कैंपेन कमेटी का अध्‍यक्ष और विधायक दल का नेता चुना गया था तब उन्‍होंने TV9Bharatvarsh की रिपोर्टर सुप्रिया भारद्वाज से बात करते हुए कहा, ‘आलाकमान ने जो फैसला लिया है, मुझे मंजूर है. पूरा प्रयास करेंगे कि कांग्रेस की सरकार बने. ना मैं दबाव की राजनीति करता हूं और ना दबाव में आता हूं.’

Related Posts