कश्मीर पर ट्वीट कर घिरीं शहला राशिद, सुप्रीम कोर्ट में केस के बाद गिरफ्तारी की मांग

सुप्रीम कोर्ट के वकील ने शिकायत देकर अफवाह फैलाने और गुमराह करने का आरोप लगाते हुए शहला राशिद को गिरफ्तार करने की मांग की है.

जेएनयू की पूर्व छात्र संघ नेता शहला राशिद कश्मीर पर अपने विवादित ट्वीट को लेकर चर्चा में हैं. उनको गिरफ्तार करने की मांग हो रही है. भारतीय सेना ने शहला राशिद के आरोपों को नकारते हुए तथ्यहीन बताया है. शहला के खिलाफ वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक मामला दर्ज कराया है.

वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने सर्वोच्च न्यायालय को दी गई शिकायत में अफवाह फैलाने और गुमराह करने का आरोप लगाते हुए शहला राशिद को गिरफ्तार करने की मांग की है. श्रीवास्तव ने शहला के ट्वीट को आधार बनाते हुए आईपीसी की धाराओं 124ए, 153, 153ए, 504, 505 और आईटी एक्ट में मामला दर्ज कराया है.

शहला राशिद खुद श्रीनगर की रहने वाली हैं. 370 हटने के बाद कश्मीर को लेकर ट्विटर पर काफी सक्रिय हैं. रविवार को उन्होंने कश्मीर में हालात खराब होने की बात 10 ट्वीट्स की थी. कई ट्वीट करके बताया कि कश्मीर में हालत चिंताजनक है. सेना और पुलिस नागरिकों के घर में घुस रहे हैं. शोपियां में सुरक्षा बलों के द्वारा जबरन हिरासत में लेने और टॉर्चर करने का आरोप लगाया.

शहला के आरोपों पर सेना की प्रतिक्रिया भी आ चुकी है. सेना ने शहला के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये सारे दावे तथ्यहीन हैं. कश्मीर में स्थिति शांतिपूर्ण है और हालात नियंत्रण में हैं. श्रीनगर में आज से स्कूल खुल गए हैं और सरकारी दफ्तरों में काम शुरू हो गया है.

 ये भी पढ़ें:

370 हटने के बाद श्रीनगर में पहली बार खुले स्‍कूल, लौटी रौनक

तस्करी से परमाणु हथियार बनाने वाले इमरान अपने गिरेबान में झांके

फेक न्यूज फैलाने वाले अकाउंट्स को डिलीट करने के खिलाफ पाकिस्तान पहुंचा ट्विटर के पास