हार के बाद महागठबंधन में नेतृत्व पर कंफ्यूजन, जानिए तेजस्वी को लेकर मांझी क्या बोले..

हार के बाद उस महागठबंधन की फूट साफ दिखने लगी है जिसके नेता बिहार में एक साथ मिलकर बीजेपी-जेडीयू को साफ करने के दावे जता रहे थे.

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद महागठबंधन की फूट उभरकर सामने आने लगी है. महागठबंधन में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गुरुवार को साफ कहा कि 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेता अभी तक तय नहीं हुआ है.

गौरतलब है कि तेजस्वी यादव को बिहार में महागठबंधन का सबसे बड़ा चेहरा माना जा रहा था, लेकिन मांझी के बयान के बाद अब साफ हो चला है कि इस कुनबे में सबकुछ ठीक नहीं है.

पटना में मांझी ने पत्रकारों से कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अभी नेता या महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तय नहीं हुआ है. महागठबंधन में शमिल सभी दलों के नेता बैठकर इस पर फैसला लेंगे.

tejasvi, हार के बाद महागठबंधन में नेतृत्व पर कंफ्यूजन, जानिए तेजस्वी को लेकर मांझी क्या बोले..

2020 का विधानसभा चुनाव आरजेडी तेजस्वी के नेतृत्व में लड़ेगी जब इस संबंध में पूछा गया तो मांझी ने कहा, “तेजस्वी राजद के नेता हो सकते हैं। सभी दल के अपने नेता होते हैं परंतु वे महागठबंधन के नेता नहीं हो सकते.”

लोकसभा चुनाव में हार के बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर आरजेडी की समीक्षा बैठक हुई थी, जिसमें यह तय हुआ है कि तेजस्वी नेता बने रहेंगे. वहीं हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद गुरुवार को समीक्षा बैठक कर रही है.